गर्मियों में अक्‍सर लोगों को डि-हाइड्रेशन की समस्‍या होती है. उन्‍हें पता ही नहीं चलता कि उनके शरीर में पानी की कमी हो गई है.Also Read - How To Make CCF Tea: रोजाना लंच और डिनर के बाद पीएं ये CCF टी, महिलाओं की एक मेन समस्या का है रामबाण इलाज

अक्सर बीमारी की वजह से या पर्याप्त मात्रा में पानी न पीने से शरीर में पानी की कमी हो जाती है. जानें ऐसे लक्षणों के बारे में, जो पानी की कमी के कारण शरीर में उभरते हैं. Also Read - Monsoon Health Tips: मॉनसून में इन 3 बातों का रखेंगे ख्याल, तो कभी नही होंगे बीमार

– मुंह सूखना, शरीर का पहला संकेत होता है जब हमारा शरीर पानी मांगता है. मुंह सूखने पर पानी की जगह कोई मीठा पेय पदार्थ पी लेने से कुछ देर के लिए राहत जरूर मिल सकती है लेकिन फिर थोड़ी देर बाद आपका मुंह सूखने लग जाता है. Also Read - Raisin Water With Lemon: किशमिश के पानी में नींबू मिलाकर पीने से मिलते हैं कई फायदें, यहां जानें इसे बनाने की विधि

– पानी कम पीने से पसीना भी कम आता है और शरीर से विषैले पदार्थ बाहर नहीं निकल पाते. त्‍वचा में रूखापन आने लगता है.

– पानी की कमी से सिर्फ मुंह और गला प्रभावित नहीं होता है बल्कि आंखों पर भी इसका असर पड़ता है. पानी की कमी से आंखें सूखी और लाल हो जाती हैं.

– शरीर की कार्टिलेज और रीढ़ की हड्डी के हिस्सों के निर्माण में 80 प्रतिशत भूमिका पानी की होती है. हडि्डयों में लचीलापन और चिकनाहट बनाए रखने के लिए पानी की आवश्यकता होती है. शरीर में पानी की पूर्ति होने पर दौड़ने, भागने, कूदने, जोड़ों में अचानक कोई झटका या मूवमेंट से नुकसान होने की संभावना कम रहती है.

– शरीर में पानी की कमी होने का मतलब बॉडी में मसल्स मास में कमी होना. वर्कआउट के पहले, बीच में और बाद में पानी पीने से बॉडी हाइड्रेट रहती है और पानी का इस्तेमाल सही जगह हो जाता है. पानी पीने से पसीने के साथ विषैले पदार्थ बाहर निकाल जाते हैं, मोटापा कम होता है और शरीर में मसल्स की संख्या भी बढ़ती है.

– अगर आपके शरीर में पानी की कमी हो जाती है तो शरीर, खून में से पानी लेने लग जाता है. इससे खून में आक्सीजन की कमी हो जाती है और कार्बन डाई आक्साइड का स्तर बढ़ जाता है जिससे आप थकान और सुस्ती महसूस करने लगते हैं.

– शरीर में पानी की कमी होने पर, मुंह में सही मात्रा में थूक नहीं बन पाता है. थूक आपके मुंह के भीतर नुकसानदायक बैक्टीरिया को पनपने से रोकता है. इसकी कमी होने पर बैक्टीरिया बनते रहते हैं और सांसों में बदबू की शिकायत होती है.

– पेशाब के रंग से आप अपने स्वास्थ्य का सही- सही अंदाज लगा सकते हैं. अगर आपके पेशाब का रंग गहरा पीला हो या पेशाब के बाद जलन हो तो ये समझ लीजिए कि आपके शरीर में पानी की कमी है.

– अगर आपको एसिडिटी हो रही है, कब्ज की शिकायत है या पाचन ठीक नहीं रहता है, तो इसका मतलब यह भी हो सकता है कि आपके शरीर में पानी की भारी कमी हो.

– शरीर में पानी की कमी होने पर त्वचा और चहरे पर झुर्रियां पड़ने लग जाती हैं.