वैलेंटाइन डे (Valentine’s Day) यानी रोमांस का दिन. इस दिन के लिए गुलाब और चॉकलेट काफी मायने रखते हैं. कपल्स अपने प्यार का इजहार करने के लिए इन चीजों का सहारा लेते हैं. लेकिन इनसे इतर एक ऐसी चीज है जिसपर खुलकर बात नहीं होती. वो है सेक्स. क्या पार्टनर के साथ प्यार का इजहार करने या प्यार जताते के लिए वैलेंटाइन डे पर सेक्स जरूरी है? इस बारे में तमाम लोगों की राय अलग-अलग है. हम आपको पांच ऐसे कारण बताते हैं जिसके आधार पर आप इस बात को लेकर तैयार हो जाएंगे कि प्यार का इजहार करने के लिए सेक्स जरूरी नहीं है.

सेक्स से पहले एक दूसरे को समझें
सेक्स, पार्टनर्स के बीच हेल्दी कम्युनिकेशन का एक विकल्प हो सकता है. जब आप सेक्सुअली एक्टिव होने से पहले थोड़ा इंतजार करते हैं तो आप खुद और अपने पार्टनर को यह सीखने का मौका देते हैं कि कैसे आप दोनों को बात करनी चाहिए. इस दौरान आपको यह सीखने का मौका मिलता है कि कैसे आप भावनाओं को पीछे रखते हुए विवाद को सुलझाते हैं. फर्स्ट केयर क्लिनिक (firstcareclinic) नाम की एक वेबसाइट पर छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक रिलेशनशिप में सेक्स के लिए उतावलापन से पता चलता है कि वह रिलेशनशिप अभी पूरी तरह से मैच्योर नहीं है. ऐसे रिलेशनशिप की लाइफ टिकाऊ नहीं होती.

सेक्स से आपके दिमाग पर पड़ता है असर
सेक्स से आपके दिमाग में एक गहरी बॉन्डिंग बनती है. एक व्यक्ति के साथ सेक्सुअल संबंध बनाने के जब वह टूटता है तो इससे आपको भावनात्मक रूप से चोट पहुंचती है. इससे आपके मस्तिष्क में एक नकारात्मक चीज पैदा होती है. ऐसे में रिश्ते की मजबूती और एक दूसरे को अच्छी तरह समझे बिना सेक्स की ओर न बढ़ें.

सेक्स के लिए इंतजार में है रोमांस
अगर आप रिलेशनशिप के शुरुआती दिनों में सेक्सुअल रिलेशन बना लेते हैं तो शादी के बाद जब आप अपने बेडरूम में होते हैं तो आपके पास कुछ नया करने के लिए नहीं होता. इससे आपके बीच रोमांस का स्तर भी घट जाता है. करीब 10 साल पहले 2010 में जॉर्नल ऑफ फैमिली साइकोलॉजी में छपी एक रिपोर्ट में कहा गया था कि जो कपल सेक्स के लिए शादी तक इंतजार करते हैं वो शादी से पहले सेक्स करने वाले कपल की तुलना में सेक्स की गुणवत्ता के मामले में ज्यादा खुशहाल होते हैं.

महिलाओं में भी स्वप्नदोष, जानिए क्या कहता है विज्ञान

लाइफ इंज्वाय करने में खलल डालता है सेक्स
अगर आप पार्टनर के साथ डेट कर रहे हैं, लेकिन आप दोनों के बीच सेक्सुअल संबंध नहीं है तो आप खुलकर जिंदगी का आनंद ले सकते हैं. इससे आपके पार्टनर के प्रेगनैंट होने का खतरा नहीं रहता. एक अनुमान के मुताबिक कंडोम के इस्तेमाल के बावजूद 15 फीसदी मामले में लड़कियां प्रेगनेंट हो जाती हैं. इतना ही नहीं आपके बीच सेक्स नहीं होने से आप तमाम ऐसी बीमारियों से बच सकते हैं जो सेक्सुअली ट्रांसमिटेड होती हैं.

सेक्स के बिना होता है रियल प्यार
अगर आप रिलेशनशिप के शुरुआती दिनों में सेक्स से बचते हैं तो इससे आपको यह समझने में आसानी होती है कि आपकी या आपका पार्टनर क्या चाहता है. आपको पता चलता है कि आपका आप जो हो उसी से प्यार करता है. न कि आप उसके लिए जो करते हो… उससे उसका प्यार तय होता है.