ऐसा कौन होगा जो 80 साल तक जीने की इच्‍छा ना रखता हो. अगर आप भी इस उम्र तक जीना चाहते हैं तो आपको कुछ फॉर्मूले अपनाने होंगे.

ये ऐसे टिप्‍स हैं जिन्‍हें डॉक्‍टर्स ने बताया है. उनका कहना है कि ऐसा करने से आयु लंबी हो जाती है.

हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया (एचसीएफआई) के अध्यक्ष पद्मश्री डॉ.के.के. अग्रवाल का कहना है, ‘दिल को स्वस्थ रखने के लिए स्वस्थ जीवनशैली अपनाने की जरूरत है. डॉक्टर के रूप में, हमारी यह जिम्मेदारी बनती है कि हम मरीजों को स्वस्थ जीवनशैली जीने के लिए प्रेरित करें, ताकि वे बुढ़ापे में बीमारियों के बोझ से बच सकें. मैं अपने मरीजों को 80 साल की उम्र तक जीने के लिए 80 का फॉर्मूला सिखाता हूं.’

80 का सूत्र इस प्रकार है :

-लो ब्लड प्रेशर, लो-डेंसिटी लिपोप्रोटीन (एलडीएल) बैड कोलेस्ट्रॉल, फास्ट शुगर, हार्ट रेट को 80 से नीचे रखें.

-किडनी और फेफड़े के कार्य 80 प्रतिशत से ऊपर रखें.

-शारीरिक गतिविधि (न्यूनतम 80 मिनट प्रति सप्ताह जोरदार व्यायाम) में व्यस्त रहें. प्रतिदिन 80 मिनट पैदल चलें, कम से कम 80 कदम प्रति मिनट की गति से 80 मिनट प्रति सप्ताह पैदल चलें.

-कम खाएं और प्रत्येक भोजन में कम 80 ग्राम या एमएल कैलोरी लें.

-निर्धारित होने पर रोकथाम के लिए 80 मिलीग्राम एटोरवास्टेटिन लें, शोर का स्तर 80 डीबी से कम रखें.

-पार्टिकुलेट मैटर पीएम 2.5 और पीएम 10 के स्तर को 80 एमसीजी प्रति क्यूबिक मीटर से नीचे रखें.

-दिल की कंडीशनिंग वाले व्यायाम करते समय लक्ष्य हृदय गति 80 प्रतिशत रखें.