आपके फेवरेट फूड आइटम्‍स क्‍या हैं. समोसा, बिरयानी, चाय, जलेबी…इसी तरह के पकवानों के नाम आप लेंगे. पर क्‍या आप जानते हैं कि ये सभी विदेशी पकवान हैं.

जी हां, विदेशी पकवान और फूड आइटम्‍स की लिस्‍ट में वो नाम हैं जिनका आपको अंदाजा तक नहीं होगा. जिन्‍हें बचपन से आप देसी समझकर खाते रहे हैं.

Mushroom खाने से शरीर को मिलता है भरपूर पोषण, बेहद फायदेमंद

– हर पार्टी की जान बिरयानी विदेशी है. सबसे पहले तुर्की से पुलाव भारत आया. फिर मुगल दौर में इसी पुलाव ने बिरयानी का रूप धारण कर लिया.

– मिर्च के बिना कोई खाना नहीं बनता. मिर्च अमेरिका के पुर्तगाल से भारत आई है.

– चाय के बिना लोगों का दिन शुरू नहीं होता. चाय ब्रिटेन से भारत आई है.

– ये गोल मिठाई पर्शिया और अरब की देन है. पर्शिया में इसे ‘जालाबिया’ और अरब में ‘जलबिया’ के नाम से जाना जाता है.

खजूर से बढ़ती है सेक्‍स पॉवर, इन बीमारियों में असरदार, रोज खाएं…

– मैगी 1872 में जर्मनी में बनी. वहां इसे जुलियस मैगी के नाम से जाना जाता था. आज स्विट्जरलैंड की कंपनी नेस्ले का इस पर अधिकार है.

– नान को ईरान और पर्शिया में खाया जाता था. बाद में मुगलों की वजह से ये भारत में आया.

– आलू देसी नहीं है. आलू 17वीं शताब्दी में यूएसए और पेरू से भारत लाए गए.

– गुलाब जामुन, पर्शिया में लुकमत-अल-कैदी के नाम से पुकारी जाती है.

– समोसे को मुगल भारत लेकर आए. 14वीं शताब्दी में समोसे को संबुस्क के नाम से पुकारा जाता था. इसमें मीट भरा जाता था.

– टमाटर स्पेन से 17वीं शताब्दी में भारत आया.

लाइफस्‍टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.