आर्थराइटिस (Arthritis) एक ऐसी बीमारी है जो जोड़ों के दर्द से संबंधित है. इसे आम बोलचाल में गठिया भी कहा जाता है. हाल ही में खबर आई है कि राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद आर्थराइटिस से पीड़ित हैं, इसीलिए वह ज्यादा चल-फिर नहीं पा रहे हैं.

पर क्‍या आप जानते हैं कि इस बीमारी के लक्षण क्‍या हैं और इससे कैसे बचा जा सकता है. हम बताते हैं.

क्‍या है आर्थराइटिस
आर्थराइटिस या गठिया में हडि्डयों और उनके जोड़ों में असहनीय दर्द होने लगता है. ज्यादातर यह समस्या मोटे और 50 साल से ऊपर की उम्र के लोगों में देखी जाती है लेकिन आज बहुत से युवा भी इस समस्या का शिकार हैं. गठिया रोग में हडि्डयां घिसने लग जाती हैं और जरा सा भी छूने या हिलाने पर उनमें तेज दर्द होने लगता है.

कैसे मिलेगा आराम
– एप्पल साइडर विनेगर में भरपूर मात्रा में मिनरल्स, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम और फास्फोरस होते हैं जो जोड़ों के दर्द में काफी फायदेमंद हैं. ये जोड़ों के बीच जमा हुए टाक्सिन्स को निकाल देता है. एक कप गर्म पानी में एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर और शहद मिलाकर और रोज सुबह पीने से आर्थराइटिस में आराम होता है.

– अदरक भी गठिया रोग में फायदेमंद है. इसके दर्द निवारक गुण जोड़ों में होने वाले दर्द में आराम पहुंचाते हैं. 6 चम्मच सोंठ पाउडर में, 6 चम्मच काले जीरे का पाउडर और 3 चम्मच काली मिर्च पाउडर मिलाएं. इस मिक्चर का आधा चम्मच रोज दिन में तीन बार पानी के साथ लें. अदरक के रस को दर्द वाली जगह और जोड़ो पर मलने से आर्थराइटिस में होने वाले दर्द में आराम मिलता है.

– जोड़ों में सरसों का तेल हल्का सा गर्म करके मसाज करने पर जोड़ों में खून का बहाव तेज हो जाता है और दर्द मे आराम मिलता है.

– हल्दी अपने दर्द निवारक गुणों के लिए जानी जाती है. इसमें मौजूद करक्यूमिन दर्द में राहत देता है. आर्थराइटिस के दर्द में एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर पीने से आराम होता है.