Auli Travel Guide with Itinerary: धरती का स्वर्ग कश्मीर को कहा जाता है, लेकिन हमारे देश में एक से बढ़कर एक ऐसी जगहें हैं जहां अंदाजा लगाना मुश्किल हो जाता है कि किसे बेहतर कहें और किसे कम बेहतर! ऐसी ही एक जगह है औली (Auli), उत्तराखंड में स्थित औली धरती पर मौजूद सबसे खूबसूरत जगहों में से एक है. औली की खूबसूरती के बारे में जितने भी शब्द लिखें कम पड़ जाएंगे. बर्फ के ऊंचे पहाड़ और देवदार के पेड़ों से गुजरते हुए यहां की बर्फबारी देखना किसी स्वर्ग की सैर करने से कम नहीं है. सर्दियों के दौरान आप यहां बर्फबारी का जमकर आनंद ले सकते हैं.

अगर आप दिसंबर और जनवरी में बर्फबारी का आनंद लेना चाहते हैं तो औली आपके लिए बेस्ट और सस्ती डेस्टीनेशन है. 5 से 7 किलोमीटर में फैला छोटा सा स्की-रिसोर्ट औली बर्फ से ढकी चोटियाँ के बीच बहुत ही सुन्दर दिखाई देता है. अगर आप उत्तराखंड के चमोली जिले की इस सबसे खूबसूरत डेस्टीनेशन पर जाना चाहते हैं तो ये जानकारी आपके लिए बहुत जरूरी है. औली भारत के स्कीइंग स्पॉट के रूप में फेमस है, जो दो केबल कारों से जुड़ी हुई है – एक जोशीमठ से औली और दूसरी औली में ही है. यहां पर आप गढ़वाल हिमालय की नंदादेवी, माना पर्वत और कामत पर्वत के साथ बर्फ से ढकी सुंदरता देख सकते हैं.

औली के बारे में कुछ रोचक बातें

सबसे ऊंची मानव निर्मित झील
औली में दुनिया की सबसे ऊंची मानव निर्मित झील (man-made lake) है. ये झील काफी सुंदर है. हालांकि सर्दियों में इस झील का पानी जम जाता है.

 

View this post on Instagram

 

औली की मानव निर्मित झील

A post shared by Amit (@amitphotoz) on

हिमालय, नंदा देवी का 360 डिग्री व्यू
औली में ऊपर जहां से भी देखेंगे आपको हर तरफ एक सुंदर और मनोरम दृश्य दिखाई देगा. यहाँ से आप भारत का दूसरा सबसे ऊँचा पर्वत – नंदा देवी (द स्लीपिंग ब्यूटी) देख सकते हैं. इसके अलावा यहां से आपको माना परबत और द्रोणागिरी भी दिखाई देता है.

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Amit (@amitphotoz) on

एशिया की सबसे लंबी गोंडोला राइड और चेयर कार राइड
औली में दो रोपवे चलती हैं. पहली रोपवे जोशीमठ से ऑली के स्कीइंग स्पॉट तक चलती है. ये राइड जोशीमठ से 15 से 20 मिनट में 4.15 KM की ट्रैक दूरी तय करती है. इसके लिए एक व्यक्ति का किराया 700 रुपये है. इस राइड को एशिया की सबसे लंबी रोपवे के रूप में भी जाना जाता है. यकीन मानिए जब आप इसमें सफर करेंगे तो प्रकृति की सबसे खूबसूरत रचनवा को देख रहे होंगे.

एक दूसरी राइड है जिसके लिए पर पर्सन टिकट 300 रुपये है. ये दरअसल चेयर कार है जो GMNV से औली तक चलती है. दोनों के बीच एक और अंतर यह है कि गोंडोला एक स्मॉल क्यूबिकल जैसी दिखती है जिसमें चारों और कांच की खिड़कियों लगी हैं; वहीं चेयर कार कुर्सियों वाली एक ओपन राइड है.

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Amit (@amitphotoz) on

औली जाने का सबसे अच्छा समय (Best Time to Visit Auli)
सर्दियां: नवंबर से फरवरी
गर्मियां: मार्च से जून
मानसून: जुलाई से अक्टूबर

पूरे साल औली जाया जा सकता है, लेकिन अगर आप बर्फ का मजा लेना चाहते हैं तो, दिसंबर के लास्ट वीक से जनवरी और फरवरी सबसे अच्छा समय है. इन महीनों के दौरान औली का मौसम बाकी सालों की तुलना में ठंडा रहता है. रात के समय टेम्परेचर माइनस में चला जाता है और जमकर बर्फबारी होती है.

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Amit (@amitphotoz) on

औली कैसे पहुंचे (How to Reach Auli)
औली जाना बेहद आसान है. हम आपको दिल्ली से औली जाने के लिए सबसे बेस्ट और आसान तरीकों के बारे में बता रहे हैं.

फ्लाइट से औली कैसे जाएं (Auli By flight)
औली के सबसे पास का हवाई अड्डा देहरादून का जॉली ग्रांट हवाई अड्डा है और यहाँ से आप या तो औली के लिए टैक्सी ले सकते हैं या बस के जरिए भी जा सकते हैं. बस के बारे में आप नीचे पढ़ेंगे. देहरादून और औली के बीच की दूरी लगभग 300 KM है.

ट्रेन के जरिए औली कैसे पहुंचे (Auli By train)
अगर आप ट्रेन से औली जाना चाहते हैं तो पास की स्टेशन ऋषिकेश है या फिर आप देहरादून है. ऋषिकेश से औली की दूरी 255 KM है तो वहीं देहरादून से औली की दूसरी 300 KM है. इसलिए बेहतर होगा कि ऋषिकेश से होकर जाएं.

बस के जरिए दिल्ली से औली तक (Delhi to Auli by Road)
अगर आप बजट ट्रैवलिंग कर रहे हैं तो बसें सबसे अच्छा विकल्प हैं. दिल्ली से औली के लिए कोई सीधी बसें नहीं हैं, हालांकि, आप रात में दिल्ली से ऋषिकेश की यात्रा कर सकते हैं और फिर सुबह ऋषिकेश से औली के लिए बस ले सकते हैं. अगर आप अपनी पर्सनल कार या रेंट कार के जरिए औली जाना चाहते हैं तो भी अच्छा विकल्प है.

सबसे अच्छा है कि या तो आप ऋषिकेश से औली जाएं या देहरादून से. दोनों जगहों से बसें आसानी से उपलब्ध हैं. मैं औली ऋषिकेश से उत्तराखंड परिवहन की बस से गया था.

– आप रात में 9 से 10 के बीच में दिल्ली के ISBT कश्मीरी गेट से ऋषिकेश के लिए बस पकड़ें. सुबह 5 बजे से पहले आप ऋषिकेश पहुंच जाएंगे. ऋषिकेश से औली के लिए सबसे पहली बस सुबह 5 बजे चलती है. ये बस जोशीमठ तक जाती है. सुबह 5 बजे चली हुई बस आपको शाम तक जोशीमठ पहुंचा देगी. रात में जोशीमठ रुकें.

-ऋशिकेश के औली के लिए उत्तराखंड रोडवेज की बस का किराया INR 300 / – के आसपास है.

नोट: ऋषिकेश से ये बसें केवल जोशीमठ तक जाती हैं. जोशीमठ से आपको औली जाने के लिए केबल कार लेनी चाहिए.

यदि आप सबसे बेस्ट एक्सपीरियंस चाहते हैं तो केबल कार से ही जाएं. जोशीमठ से केबल कार का किराया INR 700 / – है. और केबल कार से आपको बेस्ट नजारा भी देखने को मिलता है.

टिप्स: जोशीमठ से औली के लिए केबल कार का टिकट लेना पड़ता है. इसके लिए लंबी लाइन लगती है. बेहतर होगा कि आप जिस होटल में ठहरें वहां होटल वाले से बात कर लें तो वह सुबह-सुबह किसी को भेजकर लाइन में लगा देगा और आसानी से आपको टिकट मिल जाएगा. आप खुद भी जाकर लाइन में लग सकते हैं.

याद रहे- जोशीमठ से औली के लिए पहली केबल कार सुबह 9 बजकर 15 मिनट पर चलती है.

– औली में भी ऊपर ठहरने के लिए होटल हैं. हालांकि ज्यादा बर्फबारी होने के चलते वहां बिजली की समस्या हो सकती है. अच्छी बात ये है कि औली से जोशीमठ वापस आने के लिए आपका टिकट 7 दिनों तक वैलिड रहेगा.