यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) द्वारा एमडीएच ब्रांड के ‘सांभर मसाला’ में साल्मोनेला बैक्टीरिया का पता लगाने के बाद कंपनी ने अपने आलमारियों से कम से कम तीन लॉट को हटा दिया है.Also Read - आपके टॉयलेट से 20 गुना ज्यादा गंदा होता है टीवी रिमोट, रिसर्च में हुआ खुलासा

आर प्योर एग्रो स्पेशिएलिटीज द्वारा निर्मित और हाउस ऑफ स्पाइसेस (इंडिया) द्वारा वितरित, उत्पाद को एफडीए द्वारा प्रमाणित प्रयोगशाला के माध्यम में जब परीक्षण किया गया तो उसमें साल्मोनेला के बैक्टीरिया पाए गए. Also Read - दिल की बीमारी से बचना है तो ये खबर जरूर पढ़ें...

Tips: वर्कआउट से पहले इन 6 एक्‍सरसाइज से करें Warm Up Also Read - आपके पेट में हैं ऐसे हजारों बैक्‍टीरिया, जिनसे मिलेगी इस रोग के उपचार में मदद

एक बयान में कहा गया कि हटाए गए सांभर मसाला की बिक्री नार्थ कैरोलीना के रिटेल स्टोर्स, हाउस ऑफ स्पाइजेस (इंडिया) द्वारा की जा रही थी.

Alert: दुनिया भर में सबसे ज्‍यादा मौतों का कारण ये बीमारी, भारत में भी लाखों जद में…

क्‍या है साल्‍मोनेला
साल्मोनेला से ग्रसित खाद्य पदार्थ को खाने के 12 से 72 घंटों में दस्त, बुखार, पेट में मरोड़ जैसी बीमारियां होती है. यह बीमारी से निजात मिलने में चार से सात दिन लगते हैं.

बुजुर्गो, नवजातों और कमजोर इम्यून सिस्टम वाले लोगों को इस बीमारी का खतरा ज्यादा होता है.

(एजेंसी से इनपुट)