नई दिल्ली:  ठंड के मौसम में लोग बथुए के साग को खूब पसंद करते हैं. बथुए का साग खाने में तो टेस्टी होता ही है साथ ही यह ठंड के मौसम में शरीर को गर्म रखने में भी मदद करता है. भारत में बथुए के साग को अलग-अलग तरीकों से खाया जाता है. कहीं पर इसकी सब्जी बनती है तो कहीं पर इसे रायते के तौर पर खाया जाता है. ऐसे में आज हम आपको बथुए के साग के कुछ फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं . आइए जानते हैं इसके फायदों के बारे में-

त्वचा रोग के लिए फायदेमंद- बथुआ का साग त्वचा संबंधी रोगों को दूर करने में काफी मददगार होता है. इसके सेवन से खुजली, फोड़े, कुष्ठ आदि चर्म रोग ठीक हो जाते हैं.

पेट की समस्याओं से छुटकारा- सर्दियों में बथुए का साग खाने से पेट की समस्या से छुटकारा मिलता है. बथुए का रस पीने से भी पेट के हर प्रकार के रोग ठीक हो जाते हैं.

पीरियड्स में मददगार- मासिक धर्म रुका हुआ हो तो दो चम्मच बथुए के बीज एक गिलास पानी में उबालें. आधा रहने पर छानकर पी जाएं. मासिक धर्म खुलकर साफ आएगा. आंखों में सूजन, लाली हो तो प्रतिदिन बथुए की सब्जी खाएं.

खून की कमी को करे दूर- इसमें आयरन और फोलिक एसिड पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है. इसलिए यह हीमोग्लोबिन की कमी को दूर करने में सहायक है.

पेशाब के रोग – मूत्राशय, गुर्दा और पेशाब के रोगों में बथुए का साग लाभदायक है. पेशाब रुक-रुककर आता हो, तो इसका रस पीने से पेशाब खुल कर आता है.