नई दिल्ली: सूर्य की किरणों में अल्ट्रावायलट रेडिएशन दो प्रकारों का होता है. एक यूवीए और दूसरा यूवीबी. यूवीए सिर्फ स्किन की उपरी परत तक पहुंच पाता है और उसे ही नुकसान पहुंचाता है. इसे सनबर्न कहते हैं. वहीं यूवीबी अंदर की परतों को नुकसान पहुंचाने में सक्षम होता है. इसे टैनिंग कहते हैं. आपने अक्सर लोगों को गर्मियों के मौसम में सनस्क्रीन लोशन लगाते हुए देखा होगा. सनस्क्रीन आपकी त्वचा पर एक प्रोटेक्टिव लेयर बना देता है, जिसके आर-पार यूवी किरणें नहीं जा पाती हैं और आपकी त्वचा सुरक्षित रहती है. स्किन स्‍पेशलिस्‍ट एसपीएफ़ 30 वाले सनस्क्रीन को लगाने की सलाह देते हैं. आपको बता दें कि गर्मियों के अलावा सर्दियों में भी स्किन टैन होती है. ऐसे में जरूरी है कि आप सर्दियों में सनस्क्रीन लगाएं. Also Read - Beauty Tips: गर्दन पर पड़ने वाली झाइयों को इस तरह करें जड़ से खत्म, अपनाएं ये तरीके

बाजार में मिलने वाले सनस्क्रीन लोशन में कई तरह के कैमिकल्स मौजूद होते हैं. और लंबे समय तक इनके इस्‍तेमाल से त्‍वचा को नुकसान हो सकता है. ऐसे में आज हम आपको नेचुरल सनस्क्रीन बनाने के तरीके बताने जा रहे हैं. आइए जानते हैं कैसे बनाएं- Also Read - Beauty Tips: झाइयों को दूर करने के लिए भूल जाएं सबकुछ ,बस अपनाएं ये एक चीज, जरूर मिलेगा फायदा

नेचुरल सनस्क्रीन बनाने की सामग्री Also Read - Beauty Tips: शादी से पहले चेहरे पर निकल आए हैं पिंपल्स? घबराए नहीं अपनाएं ये तरीके

एलोवेरा जैल- 1/4 कप
नारियल का तेल- 1 चम्मच
पिपरमिंट एसेंशियल ऑयल- 10 बूंदें

सनस्क्रीन बनाने की विधि
– इस नेचुरल सनस्क्रीन को बनाने के लिए सबसे पहले एक छोटे बाउल में एलोवेरा जैल लें.
-फिर इसमें 1 चम्मच नारियल का तेल डालकर अच्‍छी तरह से मिलाएं.
-अब आप इसमें 10-12 बूंदें पिपरमिंट ऑयल डालें.
-इन सभी चीजों को तब तक मिलाएं जब तक यह गाढ़ा और क्रीमी न हो जाए.
-आपका नेचुरल सनस्‍क्रीन तैयार है.
-इस सनस्क्रीन को किसी एयर टाइट कंटेनर में स्‍टोर करें.