नई दिल्ली: आमतौर पर घरों में एल्युमीनियम या स्टील के बर्तनों का इस्तेमाल किया जाता है. लेकिन एक समय था जब इन बर्तनों के बजाय घर में मिट्टी के बर्तनों का इस्तेमाल किया जाता है. जी हां, हम बात कर रहे हैं पुराने समय की. पुराने समय में घरों में लोग भोजन पकाने और परोसने के लिए मिट्टी के बर्तन इस्तेमाल किया करते थे. लेकिन समय के साथ-साथ यह परंपरा कई खो सी गई है. इसके साथ ही आज के जमाने के लोगों को मिट्टी के बर्तनों में खाने के फायदों के बारे में पता ही नहीं है. ऐसे में आज हम आपको मिट्टी के बर्तनों में खाना बनाने के फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं. आइए जानते हैं इनके बारे में-

मिट्टी के बर्तन में खाने के फायदे

-अपच और गैस की समस्या दूर होती है.
-पौष्टकता के साथ भोजन का बढ़ता है स्वाद.
-कब्ज की समस्या से मिलती है निजात.
-भोजन में मौजूद पोषक तत्व नष्ट नहीं होते हैं.
-भोजन का पीएच वैल्यू मेंटेन रहता है, इससे कई बीमारियों से बचाव होता है.

इन बातों का रखें ख्याल

वैसे तो मिट्टी के बर्तन में खाना पकाना काफी आसान होता है लेकिन मिट्टी के बर्तनों में खाना बनाते समय कुछ बातों का खास ख्याल रखना होता है. जब इनको पहली बार इस्‍तेमाल करें तो इन्‍हें करीब 12 घंटे पानी में भिगो कर जरूर रखें. इसके बाद इन्‍हें पानी से निकाल कर सुखा लें और तब खाना बनाने के लिए इनका इस्‍तेमाल करें. वहीं मिट्टी के छोटे बर्तन जैसे गिलास, कटोरी, कप आदि को भी कम से कम 6 घंटे के लिए पानी में भिगो दें इसके बाद ही इनका इस्‍तेमाल करें.