हम सभी जानते हैं कि सेहतमंद रहने के लिए साफ सफाई का बेहद ध्यान रखना चाहिए. खाने से जुड़ा कोई भी काम शुरू करने से पहले हम हाथ और सब्जियों को अच्छी तरह से धोते हैं. हम में से शायद काफी कम लोग जानते हैं कि सब्जी काटते वक्त हम उनके छिलकों के रूप में पोषक तत्वों को नष्ट कर रहे होते हैं. ये सुनने में शायद अजीब लग सकता है लेकिन सच है. Also Read - सरकार को आया बच्चों की सेहत का ख्याल, हरी-सब्जियां खिलाकर बनाएंगे तंदुरुस्त

Also Read - Tips: बढ़ानी है उम्र तो आज ही अपनाएं ये आदतें, ऐसे करें शुरुआत...

Tips: डिनर करने का सही वक्त क्या है? देर रात खाने का क्या होता है असर? Also Read - Healthy लाइफ स्‍टाइल चाहिए तो अपनाए ये उपाय, होंगे चौंकाने वाले फायदे

सेब, अमरूद, नाशपाती, चीकू और तमाम फलों के छिलके एंटी-ऑक्सीडेंट्स और फाइबर से भरपूर होते हैं.

आम, केला, संतरा समेत कई फलों के इनके रंग-बिरंगे छिलकों में फ्लेवोनॉएड होता है, जो एलर्जी प्रतिरोधक होने के साथ-साथ सूजन और दर्द भी कम करता है. स्टडी के मुताबिक फ्लेवोनॉएड से दिल की बीमारियों की आशंका भी कम होती है.

Use citrus peels of orange or lemon

आलू के छिलकों में आलू के गूदे की तुलना में फाइबर, आयरन, पोटैशियम और विटामिन अधिक पाए जाते हैं. आलू के लगभग 18 प्रतिशत पोषक तत्व उसके छिलकों में होते हैं. इसके कोशिश हमेशा ये करना चाहिए आलू को अच्‍छी तरह धोकर उन्‍हें छिलका सहित बनाएं. आलू की सब्जी छिलका सहित बनाने पर वे पहले से अधिक स्वादिष्ट भी बनेंगी.

वहीं अगर बात सेब की जाए तो उसका का दो-तिहाई फाइबर उसके छिलके में होता है. सेहत के लिए लाभदायक क्वेरसेटिन नामक एंटी-ऑक्सीडेंट भी सेब के छिलके में अधिक पाया जाता है. इसके अलावा अमरूद के छिलके विटामिन सी और एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होते हैं. इन फलों को छीलने की बजाए छिलके के साथ ही खाना अच्छा रहता है.

Tips: अगर चाय-कॉफी में गिर जाए मक्खी-मच्छर तो क्या उसे पीना चाहिए?

वहीं ब्रोकली और फूलगोभी पर नजर डालें तो इनके डंठल पोषक तत्वों से भरे होते हैं. प्याज के छिलकों में एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं. इनमें क्वेरसेटिन होता है, जो ब्लड प्रेशर, सूजन और कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद करता है. इन्हें धोकर सूप में मिलाएं और खाने से पहले निकाल लें जिससे इसके पोषक तत्व आपकी डाइट में शामिल हो सके.

इसके अलावा नींबू, मौसमी या संतरे के छिलके के ऊपरी रंगीन भाग को कद्दूकस कर सूप या ग्रेवी में डाल लें और धीमी आंच पर पकाने से फ्लेवर बढ़ेगा. संतरे के छिलके प्रोटीन, रायबोफ्लैविन, विटामिन ए और विटामिन बी-6 के अच्छे स्रोत माने जाते हैं.

कद्दू या सीताफल के बीज मैग्नीशियम, पोटैशियम, आयरन और फाइबर से भरे होते हैं. इन्हें थोड़े तेल में भूनकर खाया जा सकता है. इसमें फाइबर और विटामिन अधिक मात्रा में पाया जाता है.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.