सुशांत केस में रिया चक्रवती की व्हाट्सएप्प से एक CBD ऑयल का नाम सामने आया है, जिसे सुनकर हर कोई परेशान है. आप में से कई सारे ऐसे लोग है जिन्होंने CBD ऑल के बारे में पहली बार सुना होगा. ड्रग्स का एंगल सामने आने के बाद इस तेल ने हर किसी को ध्यान अपनी तरफ खिंचा है, ऐसे में चलिए जानते हैं आखिर क्या है ये तेल और ये क्यों एक ड्रग्स के रुप में इस्तेमाल होता है. Also Read - जेल से छूटने के बाद ड्रग्स केस की आरोपी रिया चक्रवर्ती बिग बॉस 14 में करेंगी एंट्री? लेकिन...

साल 2019 में एक सोध में पता चला था कि भारत में करीब 2.8 प्रतिशत भारतीय इसका इस्तेमाल करत हैं, यानि की लगभग 3 करोड़ भारतीय. बता दें कि दिल्ली और मुंबई में इसका इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जाता है. 1985 में ये काननू थी लेकिन साइकोट्रोपिक सब्सटेंस एक्ट, 1985 के तहत इसे प्रतिबंधित होता है. Also Read - सुब्रमण्यम स्वामी का सवाल- सुशांत केस को बंद करने के लिए मुंबई में इतनी जल्दबाजी क्यों?

क्या होता है सीबीडी तेल
सीबीडी तेल में कैनबिस पौधे का 40 प्रतिशत अर्क होता है और ये हर दर्ध को कम करने के साथ चिंता को कम करने में प्रभावी होता है. सीबीडी तेल भारत के साथ बाकि देशों में भी पूरी तरह से वैध है. इसे दर्द निवारक दवा मानी जाती है, बता दें कि भारत में इसका बड़े पैमाने पर इसका उपयोग किया जाता है. Also Read - 'केदारनाथ' फिर से होगी रिलीज, जानें क्यों गुस्से में हैं सुशांत सिंह राजपूत के फैंस

CBD तेल के फायदे
1. दर्द को करता है दूर
मेरूआना का उपयोग गर्ग के लिए 2900 ई.पू. से किया जा रहा है. हाल ही में पता चला है की घटक दर्द में राहत देने के लिए काम आ सकते हैं.

2. चिंता और अवसाद को करता है कम
इसे लेने से आपकी चिंता औऱ अवसाद आमतौर पर ख्तम हो जाता है. जैसे नींद आना,चिड़चिड़ापन, औऱ सिरदर्द की शिकायत सहित कई दुष्प्रभाव हो सकते हैं. ऐसे में कई सारे रोगा प्राकृतिक इलाज के लिए सीबीडी तेल का उपयोग करते हैं.

3. कैंसर से संबंधित लक्षण कम कर सकते हैं
CBD ऑइल से कैंसर के लक्षण कम करने के अलावा कैंसर के इलाज से होने वाले प्रभावों जैसे जी मचलना, उल्टी और दर्द आदि में मदद मिलती है. एक स्टडी में दर्द की अन्य दवाओं की तुलना में मरीजों को CBD ऑयल से दर्द में जल्दी राहत मिलने का दावा किया गया है.

4. ह्रदय में भी लाभ पहुंचा सकता है
हाल ही में एक रिसर्च से दावा किया गया कि CBD ऑयल से हृदय और सर्क्युलेशन सिस्टम में लाभ हुआ है. इसके अलावा कम ब्लड प्रेशर वाले लोगों को को भी इससे फायदा होने का दावा किया गया. यह उच्च रक्तचाप में मददगार भी हो सकता है.