नई दिल्‍ली: शुक्रवार रात को सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण लगने वाला है. शुक्रवार देर रात इसे देखा जा सकेगा. चूंकि ये सदी का सबसे लंबा ग्रहण है तो लोगों में कई तरह की आशंकाएं भी हैं. Also Read - Chandra Grahan 2020 Horoscope: सभी राशियों पर होगा चंद्र ग्रहण का असर, इन्हें रहना होगा संभलकर

Also Read - Chandra Grahan November 2020: इन राशियों के लिए है अशुभ है चंद्र ग्रहण, इन मंत्रों का जप करें

हमारे समाज में आमतौर पर ग्रहण को नंगी आंख से देखना शुभ नहीं माना जाता. चूंकि चंद्र ग्रहण के दौरान चंद्रमा पूरा लाल हो जाता है इसलिए ब्‍लड मून को लेकर कई तरह की बातें की जाती हैं. पर विज्ञान ऐसा नहीं मानता. Also Read - Chandra Grahan November 2020: कार्तिक पूर्णिमा पर साल का आखिरी चंद्र ग्रहण, जानें समय, सूतक काल

Sawan: हरी चूड़ियां पहनने का होता है खास महत्‍व, प्रसन्‍न होते हैं भोलेनाथ…

Lunar-Eclipse

चूंकि विज्ञान और ज्योतिष नजरिए से, चंद्रग्रहण को खास घटना माना जाता है, इसलिए दोनों के नजरिए जानने जरूरी हैं.

Chandra Grahan 27 July 2018: अपने फोन पर रात 11.30 बजे से देख सकेंगे ग्रहण की लाइव स्‍ट्रीमिंग, यहां करें क्लिक…

ग्रहण को देखना अशुभ होने के अलावा समाज में ये भी मान्‍यता है कि ग्रहण देखने से आंखों की रौशनी कम हो जाती है. या अंधापन आ सकता है. पर विज्ञान इन्‍हें नकारता है.

Sawan 2018: सावन में इन चीजों को खाने की होती है मनाही, LIST बनाकर रखें याद…

वैज्ञानिक कहते हैं कि आप चंद्रग्रहण को नंगी आंखों से देख सकते हैं. इसके लिए किसी खुले स्‍थान जैसे पार्क आदि में जाकर इसे देखा जा सकता है. ये बिल्‍कुल सुरक्षित है.

हालांकि सूर्य ग्रहण को लेकर वैज्ञानिक कई तरह के परामर्श देते रहे हैं. वे कहते हैं कि सूर्य ग्रहण के दौरान सोलर रेडिएशन से आंखों के नाजुक टिशू डैमेज हो सकते हैं. इससे किसी भी व्‍यक्‍त‍ि को देखने में परेशानी आ सकती है. पर चंद्र ग्रहण के दौरान ऐसा कुछ नहीं होता.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.