छठ का महापर्व शुरु हो गया है और भारत के कई सारे हिस्सों में इसे बहुत ही श्रद्धा और धूमधाम के साथ मनाया जाता है. दिवाली के बाद हिंदूओं को प्रमुख और त्योहारों में से एक आता है छठ. कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि से छठ का महापर्व शुरू हो जाता है. चार दिनों के छठ पर्व की शुरुआत नहाय-खाय से होती है. छठ का पर्व 18 नवंबर से 21 नवंबर तक चलेगा. ऐसे में इस दौरान हर घर में स्पेशल खीर बनाई जाती है जो प्रसाद के तौर पर ग्रहण की जाती है औऱ इसका स्वाद सबसे खास औऱ लाजवाब होता है. Also Read - Chhath Puja 2020: उदीयमान सूर्य को अर्घ्यदान के साथ ही संपन्न हुआ चार दिनों का महापर्व छठ, ऐसा दिखा नजारा

छठ की शुरुआत नहाय-खाय से होती है. नहाय-खाय के दिन भोजन करने के बाद व्रत रखने वाले अगले दिन शाम को खरना पूजा करती हैं.इस पूजा में महिलाएं शाम के समय लकड़ी के चूल्हे पर गुड़ की खीर बनाकर उसे प्रसाद के तौर पर खाती हैं और इसी के साथ व्रती महिलाओं का 36 घंटे का निर्जला उपवास शुरू हो जाता है. छठ पूजा के अवसर पर खीर बनाई जाती है जो गुड़ से बनती है, ये खाने में बहुत स्वादिष्ट होती है. तो चलिए आप किन तरीकों से छठ के इस स्पेशल खीर का स्वाद अपने घर पर भी ले सकते हैं. Also Read - Chhath Puja 2020: छठ पूजा का समापन आज, इस तरह से दें सूर्य को अर्घ्य, ये है पारण का समय

सामग्रीः
50 ग्राम चावल
100 ग्राम गुड़
1 लीटर दूध
2-3 कप पानी
10-15 बादाम
10-15 काजू
5-10 किशमिश
6 इलायची Also Read - Chhath puja 2020: कोरोना पर आस्था भारी, छठव्रतियों ने कहा-छठी मैया होऊ ना सहाय...

गुड़ की खीर कैसे बनाएं:
1. इसे बनाने के लिए सबसे पहले चावल लें और उसे अच्छे से साफ कर लें और फिर पानी में भिगोकर कुछ देर के लिए छोड़ दें.

2. इसके बाद एक साफ बर्तन में दूध लेकर उबलने के लिए गैस पर रखें और जब उसमें उबाल आए तो पानी में से चावल को निकालें और उसके बाद बिना पानी के चावल को दूध में डालें.

3. इसके बाद चावल औऱ दूध को पकाएं और लगातार चलाएं ताकि दूध और चालव जले ना और गैस को धीमा आंच पर रखें अगर आप किसी और चीज पर बना रहे हैं तो उसकी आंच भी कम रखें.

4. इसके बाद दूसरे साफ बर्तन में गुड़ औऱ पानी को डालकर गैस पर गर्म करने के लिए रखें औऱ उसके बाद गुड़ पानी में पूरी तरह जब मिल जाए तो गैस को बंद कर दें.

5.दूध और चावल वाले बर्तन में काजू, बादाम, किशमिश और इलायची डालकर मिक्स करें. गुड़ के पानी को छलनी की मदद से छान लें. अब इस मिश्रण को दूध और चावल के साथ मिक्स करें और सर्व करें.

छठ पर्व की तारीखः
18 नवंबर 2020 बुधवार- नहाय-खाय
19 नवंबर 2020 बुधवार- खरना
20 नवंबर 2020 बुधवार- डूबते सूर्य का अर्घ्य
21 नवंबर 2020 बुधवार- उगते सूर्य का अर्घ्य

छठ का पहला अर्घ्य देने का शुभ मुहूर्तः
छठ पूजा के दिन सूर्योदय – 20 नवंबर, 06:48 सुबह
छठ पूजा के दिन सूर्यास्त – 20 नवंबर, 05:26 शाम