Coronavirus In India: कोरोनावायरस का कहर अब भारत में दिखने लगा है. हर रोज नए मामले सामने आ रहे हैं. प्रभावित लोगों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है. पर भारतीय अब भी इस महामारी को बेहद हल्के में ले रहे हैं. आंकड़े तो यही कहते हैं. Also Read - कोरोना वायरस से हुई मां की मौत तो बेटे ने शव लेने से किया इनकार, जिला प्रशासन को करना पड़ा अंतिम संस्कार

60 फीसदी भारतीय मानते हैं कि कोविड-19 को हौव्वे की तरह लिया जा रहा है. खासतौर पर ऐसे में जबकि भारत में सोमवार तक इस महामारी से पीड़ित लोगों की संख्या 400 बताई गई थी. Also Read - कांग्रेस ने सांसदों के वेतन में कटौती का स्वागत किया, सांसद निधि बहाल करने की मांग

आईएएनएस-सीवोटर गैलप इंटरनेशनल एसोसएिशन कोरोना ट्रैकर -1 की रिपोर्ट में दुनिया भर के 22 देशों में 20 हजार लोगों के बीच की गई सर्वे के आधार पर यह बात कही गई है. Also Read - यूपी में भी आगे बढ़ सकता है लॉकडाउन, सीएम योगी के साथ मीटिंग के बाद अधिकारी ने दिए संकेत

लोगों से कोरोना के बारे में जब पूछा गया तो उन्होंने कहा, “हमें लगता है कि कोरोना के खतरे को हौव्वा बनाकर पेश किया गया है. 42 फीसदी भारतीय इस विचार से मजबूती से सहमत नजर आए जबकि 12 फीसदी इससे सिर्फ सहमत नजर आए.”

कुल 35 फीसदी लोगों का मानना है कि वे इस विचार से सहमत नहीं हैं.

इसी तरह 29 फीसदी इटलीवासी, 62 फीसदी पाकिस्तानी, 17 फीसदी फ्रेंच, 26 फीसदी ब्रिटिश और 55 फीसदी अमेरिकी लोग इस विचार से सहमत नजर आए.

कोविड-19 से दुनिया भर में करीब 15 हजार लोगों की मौत हुई है. भारत में इससे मलने वालों की संख्या सात बताई जा रही है.
(एजेंसी से इनपुट)