Coronavirus Lockdown: पूरे देश में लॉकडाउन चल रहा है. लोगों को घर से बाहर निकलने की मनाही है. लोग टाइम पास करने को काफी कुछ कर रहे हैं, इससे उनकी लव लाइफ में काफी बूस्ट आया है. Also Read - जल्द आने वाला है कोरोना का टीका! केंद्र ने राज्यों से कहा- सुचारु टीकाकरण के लिए समिति गठित करो

यूं तो लोग तमाम तरह के ऐप्स डाउनलोड कर रहे हैं और उन पर खूब टाइम पास भी हो रहा है, पर लॉकडाउन के दौरान डेटिंग ऐप्स की डिमांड भी काफी बढ़ी है. Also Read - योगी आदित्यनाथ का वादा, 'कोरोना खत्म होने पर हर गांव के व्यक्ति को कराएंगे अयोध्या में कारसेवा'

ऐसे ही एक डेटिंग ऐप टिंडर को लेकर कुछ दिलचस्प ट्रेंड सामने आए हैं. इस ऐप पर बातचीत में औसतन 39 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. वहीं दिलचस्प बात यह है कि बातचीत की औसत लंबाई भी 28 फीसदी बढ़ गई है. Also Read - दिल्ली में बहाल होगी इंटरस्टेट बस सेवा, डीटीसी और क्लस्टर बसों में 20 सवारियों की लिमिट खत्म

ऐप ने ‘टिंडर पासपोर्ट’ फीचर भी बनाया है जो आमतौर पर मुफ्त में दिया जाता है. इसका अर्थ है कि सदस्य पसंद के जगहों के टिंडर सदस्यों के साथ मैच और चैट कर सकते हैं. इससे पहले, उपयोगकर्ता केवल उस भौगोलिक क्षेत्र में मैच कर सकते थे जहां के वे थे.

टिंडर ने कहा कि अभी भारत में दुनिया के अन्य हिस्सों में पासपोर्ट की दर में 25 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है, वहीं जर्मनी में 19 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई, फ्रांस में 20 प्रतिशत और ब्राजील में 15 प्रतिशत की बढोतरी देखी गई है.

इंडिया-टिंडर की जीएम तरु कपूर ने बताया, “घर में रहें, सुरक्षित रहें, सोशल डिस्टेंवसिंग, आप कैसे हैं, अपने हाथ धोएं और चेहरे की इमोजी को व्यक्तिगत बातचीत में उपयोग करते हुए देखा जा रहा है. ऐसा केवल इस अवधि में नहीं है, बातचीत की लंबाई और पासपोर्ट दोनों के उपयोग में पहले भी वृद्धि हुई है. यह सभी उपयोगकतार्ओं के लिए पहले भी उपलब्ध था. यह चुनौतीपूर्ण समय में हमारे प्रति लोगों के विश्वास को बताता है कि वे समुदाय में नए कनेक्शन बनाने के लिए नए तरीके खोज रहे हैं.”

इस मुश्किल समय में जब लोग तनाव, अकेलापन और अनिश्चितता महसूस कर रहे हैं, सेल्फ-आइसोलेशन और घर से काम करने के मिश्रण का मतलब है कि हम रोजमर्रा के संवाद को याद कर रहे हैं जो हमें सामाजिक प्रााणी बनाते हैं. अभी दुनियाभर में दैनिक बातचीत में औसतन 20 प्रतिशत की वृद्धि हुई है और बातचीत की औसत लंबाई 25 प्रतिशत बढ़ी है.
(एजेंसी से इनपुट)