जो महिलाएं बच्‍चों को ब्रेस्‍टफीड कराती हैं, उन्‍हें पब्लिक प्‍लेस पर काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. इसका कारण होता है ऐसी जगहों पर ब्रेस्‍टफीड कराने के लिए किसी तरह की सुविधा का ना होना.

पर अब उत्तर प्रदेश सरकार ने इस दिशा में सराहनीय प्रयास किया है. इसके तहत राज्‍य के सभी सरकारी बस अड्डों पर माताओं को नवजात शिशु को दूध पिलाने की सुविधा दिलाने के लिए क्यूबिकल का निर्माण किया जाएगा.

उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (यूपीएसआरटीसी) के प्रबंध निदेशक राज शेखर के अनुसार, यह क्यूबिकल उन माताओं को सहायता प्रदान करेंगे, जो अक्सर यात्रा के दौरान अपने नवजात शिशुओं को दूध पिलाने में झिझक का सामना करती हैं.

उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम इन मॉड्यूलर ब्रेस्टफीडिंग क्यूबिकल्स को राज्य सरकार द्वारा संचालित बस अड्डों पर बनाएगा, जिसके लिए 2.5 करोड़ रुपये जारी कर दिए गए हैं.

पहले चरण में राज्य के 242 बस अड्डों में से 23 में इन क्यूबिकल्स की सुविधा प्रदान की जाएगी और शेष नवंबर तक स्थापित किए जाएंगे.

हल्के स्टेनलेस स्टील से बने क्यूबिकल को आसानी से स्थापित किया जा सकता है. इसके अलावा यह अन्य स्थानों पर स्थानांतरित भी हो सकते हैं.

क्यूबिकल में बच्चों के डाइपर बदले जा सकेंगे और यहा एलईडी लाइट और पंखों की व्यवस्था होगी.