नई दिल्ली: बॉडी में जब इंसुलिन हार्मोन का स्राव कम होता है तो इससे डायबिटीज रोग होता है डायबिटीज होने के कई कारण होते हैं. यह आनुवांशिक, उम्र बढ़ने पर या मोटापे के चलते होता है. इस रोग में व्यक्ति को परहेज करना होता है. मधुमेह के कारण है या तो अग्न्याशय पर्याप्त इंसुलिन का उत्पादन नहीं करता या शरीर की कोशिकायें इंसुलिन को ठीक से जवाब नहीं करती. इस दौरान मरीज को अपने खाने पीने का ख्याल रखने की सलाह दी जाती है. डायबिटीज में क्या खाना और क्या नहीं मखाना इस चीज का चुनाव करना काफी मुश्किल होता है. ऐसे में मरीजों को सबसे ज्यादा दिक्कत सही आटे का चुनाव करने में आती है. डायबिटीज के मरीजों को ऐसे आंटे की रोटी खानी होती है जो उनका ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल कर सकें. ऐसे में यह जानना जरूरी है कि डायबिटीज में कौन सा आटा अच्छा होता है. डायबिटीज रोगियों को अपनी डाइट में प्रोटीन और फाइबर के अलावा अन्य कई पोषक तत्वों को शामिल करने की सलाह दी जाती है. ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि डायबिटीज के मरीजों को कौन सा आटा खाना चाहिए, जो उनकी सेहत के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है. Also Read - साइलेंट किलर कही जाने वाली इस बड़ी बीमारी के शिकार होते हैं ये ब्लड ग्रुप वाले लोग, रहे संभलकर

जौ का आटा- जौ की गिनती सबसे पौष्टिक खाद्य पदार्थों में की जाती है. यह मानसिक और शारीरिक विकास के लिए सबसे जरूरी तत्वों फाइबर, विटामिन-सी व ए आदि से भरपूर होता है. मधुमेह जैसी गंभीर बीमारी की रोकथाम के लिए जौ का पानी पीने के फायदे देखे गए हैं. मधुमेह एक चिकित्सीय स्थिति है, जिसमें शरीर पर्याप्त इंसुलिन का उत्पादन नहीं कर पाता है. यहां जौ आपकी मदद कर सकता है. Also Read - Diabetes Diet Thepla: सेहत का ख्याल रखते हुए घर पर बनाएं स्पेशल करेला थेपला, आएगा स्वाद जानें आसान रेसिपी

कुट्टू का आटा- कुट्टू हमें ब्लड प्रेशर,डायबिटीज, अस्थमा जैसी गंभीर बीमारियों से बचाने में बेहद फायदेमंद होता है. डायबिटीज यानि शुगर में कुट्टू का आटा खाना फायदेमंद होता है. क्योंकि इसके सेवन से शरीर का इंसुलिन स्तर सामान्य रहता है. जिससे शुगर कंट्रोल रहती है. Also Read - Diabetes And Coronavirus: डायबिटीज के मरीज को हो जाए कोरोना, तो क्या होगा?

रागी का आटा- रागी के आटे की रोटी खाने से शरीर में आसानी से कैल्शियम, प्रोटीन, ट्रिपटोफैन, आयरन, मिथियोनिन, रेशे, लेशिथिन इत्यादि महत्वपूर्ण स्वास्थ्यवर्धक तत्वों की पूर्ति हो जाती है. फाइबर के गुणों से भरपूर रागी का आटा डायबिटीज की समस्या में काफी असरदार हो सकता है. इस आटे से न सिर्फ आपका पाचन तंत्र मजबूत हो सकता है बल्कि यह ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में कारगर साबित हो सकता है.

राजगिरा का आटा- राजगिरा का सेवन डायबिटीज से बचे रहने के लिए भी किया जा सकता है. एक वैज्ञानिक अध्ययन में पता चला है कि राजगिरा और राजगिरा के तेल का सप्लीमेंट एंटीऑक्सीडेंट थेरेपी के रूप में काम कर सकता है, जो हाइपरग्लाइसीमिया (हाई ब्लड शुगर) को ठीक करने और मधुमेह के जोखिम को रोकने में फायदेमंद साबित हो सकता है.

बेसन – न्यूट्रीशन से भरपूर बेसन का प्रयोग आपने पकौड़े या कढ़ी बनाने में खूब किया होगा, लेकिन आपको पता है इसकी रोटी कैंसर से लेकर डायबिटीज जैसी कई गंभीर बीमारियों को दूर रखने में कारगर है. बेसन में प्रोटीन अधिक होता है इसलिए ये लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाला होता है. यही कारण है कि ये वेट लॉस के साथ डायबिटीज में फायदेमंद साबित होता है. ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होने के कारण बेसन की रोटी खाने के बाद बहुत देर से ब्लड में पहुंचती है और शुगर का स्तर बढ़ने नहीं पाता. इसलिए वेट कम करने वालों और डायबिटीज रोगियों के लिए बेसन बहुत फायदेमंद है.