कई ऐसी बीमारियां हैं जिनसे महिलाओं की तुलना में पुरुष अधिक प्रभावित होते हैं. ये बीमारियां लाइफस्‍टाइल से जुड़ी हैं.

डॉक्‍टर्स कहते हैं कि अगर पुरुष इन बीमारियों के प्रति सचेत हों तो उन्‍हें इनकी जद में पहुंचने से रोका जा सकता है. आप भी जानें इन बीमारियों के बारे में.

– महिलाओं की तुलना में पुरुषों में नींद से संबंधित समस्‍याएं जल्‍दी होती हैं. इसे स्लीप एप्निया भी कहा जाता है. तेज खर्राटों की गंभीर समस्या, सांस ना आने पर हांफते हुए जग जाना, दिन के समय नींद आना और सिरदर्द इसके लक्षण हैं.

डॉक्‍टर्स कहते हैं कि इस समस्‍या से बचने के लिए वजन को कम रखें. समय पर भोजन करें व सोएं. एक बार बॉडी साइकिल बिगड़ जाने पर इस रोग के उभरने के सबसे ज्‍यादा चांस होते हैं.

– पेट के निचले हिस्से या जनांनगों में खिंचाव, कमर दर्द, सांस लेने में तकलीफ होना. इसके अलावा सीने में दर्द, पैरों में सूजन होना. इससे बचने के लिए वजन को कंट्रोल में रखना जरूरी है.

– पेट में लगातार दर्द, थकान, मल में रक्त आना, शौच की आदतों में बदलाव आदि रहना. ये समस्‍याएं निम्न फाइबर युक्त भोजन की वजह से होती हैं. इससे बचने के लिए शराब-सिगरेट का सेवन ना करें. उच्च वसा युक्त भोजन लें, धूम्रपान छोड़ें. डॉक्‍टर से सलाह लेंऋ

– पुरुषों को दिल का दौरा काफी अधिक होता है. इसके लक्षणों में सीने में भारीपन, कुछ मिनट से अधिक समय तक हृदय के बायें हिस्से के मध्य में दर्द होना, सांस लेने में तकलीफ होना, ठंडा पसीना आना लक्षण हैं. इससे बचाव के लिए तनाव प्रबंधन, सेहतमंद भोजन और नियमित व्यायाम करें.