भागदौड़ की जिंदगी में हम अपनी सेहत का ध्‍यान ही नहीं दे पाते. जब बीमार हो जाते हैं तभी खून की जांच भी करवाते हैं. अगर पहले से ही जांच करा ली जाए तो बीमार होने से बचा जा सकता है. पर कब जांच करा सकते हैं? हम बताते हैं.

अगर शरीर में किसी भी तरह के विटामिन की कमी हो जाए तो कई परेशानियां होने लगती हैं. बेहद मामूली से दिखने वाले कई लक्षण भी शरीर में विटामिन की कमी का संकेत होते हैं. इसलिए ये जानना बेहद जरूरी है कि विटामिन की कमी होने के कारण शरीर में कौन-कौन से लक्षण उभरते हैं.

ये तो हम सभी जानते हैं कि शरीर को स्वस्थ्य रखने के और सुचारू रूप से काम करते रहने के लिए कई प्रकार के विटामिन्स की आवश्कता होती है. इनकी कमी होने पर आपको ऐसा महसूस होता है-

vitamin-d

– बिना किसी वजह के मांसपेशियों में दर्द रहता है. ये दर्द विटामिन डी की कमी का लक्षण हो सकता है. इसके अलावा दांतो और हडि्डयों में भी ऐसी समस्या है तो आपको दैनिक आहार में दूध व डेयरी से बने उत्पादों जैसे दूध, घी, पनीर और दही को शामिल करना चाहिए जिनसे शरीर में विटामिन डी की पूर्ति होती है. विटामिन डी कैल्शियम को सोखने में मदद करता है और फास्फोरस के स्तर को बढ़ाता है, जिससे हडि्डयां और मांसपेशियां मजबूत होती हैं.

– पैरों में झनझनाहट हो. पैर सुन्न हो जाते हों या चलते वक्त अक्सर संतुलन गड़बड़ा जाता हो तो अवश्य जांच कराएं. ऐसे ज्यादातर मामलों में शरीर में विटामिन बी 12 की कमी होती है. ये कमी पूरा करने के लिए खाने में मछली, चिकन, सोयाबीन, दालें और डेयरी उत्पाद की मात्रा बढ़ाएं.

Vitamin C

– चोट या घाव को भरने में काफी समय लगे. अक्सर ऐसा विटामिन सी की कमी में होता है.

– अगर ब्रश करने के बावजूद मुंह से बदबू आती रहे. ऐसा विटामिन बी3 की कमी से होता है. इससे लिवर से जुड़ी समस्याएं भी हो सकती हैं.

ek_hair-fall

– प्रतिदिन थोड़े से बाल झड़ना एक नॉर्मल प्रक्रिया है. पर अगर हेयरफॉल काफी ज्यादा हो, कंट्रोल ना हो रहा हो तो शरीर में पोषक तत्वों की कमी इसकी वजह हो सकती है.

– बिना किसी वजह से अगर आप हमेशा थका हुआ महसूस करें, आलस आता रहे, काम में मन ना लगे, चिड़चिड़ापन हो तो ये सभी शरीर में पोषक तत्वों की कमी के वजह से उभरने वाले लक्षण हैं.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.