नई दिल्ली: दक्षिण भारतीय अभिनेत्री सामंथा अक्किनेनी ने पांच नई इयर पियर्सिंग (कान में छेद करवाना) करवाया है, जिसे दिखाने के लिए उन्होंने सोशल मीडिया का सहारा लिया. उन्होंने सोशल मीडिया पर एक तस्वीर साझा किया और लिखा, “न्यू पियर्सिंग.” ऐसे में अगर आपको भी एक से ज्यादा पियर्सिंग का शौक है तो आपको कुछ बातों का ख्याल रखना काफी जरूरी है. वरना इससे संक्रमण फैल सकता है. आइए जानते हैं आपको किन बातों का ख्याल रखना जरूरी है.

– कान छिदवाने के बाद उसे बार बार छूने, उससे खेलने या उसे खींचने से बचें. अपने कानों को बार बार हाथों से ना छुएं.

– कान छिदवाने के कुछ समय तक कोई भी भारी ज्वैलरी पहनने से बचें. जब तक कान के छेद पूरी तरह से ठीक ना हो जाएं तब तक कानों में कोई भी बड़ी ज्वैलरी ना पहनें. इससे कान में खिंचाव आ सकता है.

– कानों के नए छेद को हमेशा गीला रखें. और इसमें एंटीबैक्‍टीरियल प्रोडक्‍ट लगाएं. या आप इसपर लगाने के लिए घरेलू उपायों को भी अपना सकती हैं. इसके लिए आप एक चम्‍मच तेल में थोड़ी सी हल्‍दी मिलाकर हल्‍का गर्म करके कानों पर लगा सकते हैं. बता दें कि हल्दी में एंटीबैक्टीरियल तत्व मौजूद होते हैं.

– कानों को छूने से पहले हाथों को जरूर धोएं. हर कुछ देर में कानों की बॉली को कानों में घुमाएं ताकि त्वचा मुक्त रहें.

– कान छिदवाने के 6 हफ्तों के बाद ही स्‍विमिंग करें. क्‍योंकि स्विमिंग करने से पूल का पानी आपके छेद वाले स्‍थान पर लगने से संक्रमण का खतरा बढ़ा सकता है.

– नहाते या कपड़े बदलते समय विशेष एहतियातें बरतें. कहीं कान का पिछला भाग उसके कपड़े या तौलिये में न फंस जाये. साथ ही इस जगह को सूखा और साफ रखें.