नवरात्रि का त्यौहार अपने चरम पर पहुंच चुका है आज मां दुर्गा के छठे रुप की पूजा हो रही है. आने वाले दो और दिनों तक माता की पूजा होगा और मां एक बार फिर से भक्तों से विदा लेकर अगले साल आएंगी. इस नवरात्रि का जोश पहले ही तरह नहीं रहा क्योंकि कोरोना का साया हर जगह है बावजूद इसके लोगों ने मां की पूजा में कोई कमी नहीं छोड़ी नहीं है. नवरात्रि में कई सारे लोग मां का उपवास करते हैं वहीं कुछ केवल दो दिनों का व्रत करते हैं. ऐसे में अगर आप पूजा करते हैं औऱ व्रत रखते हैं तो जाहिर है कि आप इस दौरान साबूदाना की खिचड़ी जरुर खाते होंगे, लेकिन ये खिचड़ी हर बार खिली- खिली नहीं बन पाती है जिस वजह से लोग परेशान हो जाते हैं. Also Read - Navratri 2020 Kanya Pujan: आज अष्टमी-नवमी, इस शुभ मुहूर्त पर करें कन्या पूजन, ये है पूजा की विधि

व्रत के दौरान बहुत सारे लोग साबूदाने से बनी खिचड़ी खाते हैं क्योंकि वो स्वास्थ के लिहाज से बहुत अच्छी होती है और आपका पेट भी भर देती है जिससे आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगती है. ऐसे में जाहिर है की जो इसे बनाता है वो सोचता है कि ये स्वादिष्ट के अलावा खिली-खिली बने ताकि जो इसे खाए वो खुश हो जाए. ऐसे में आज हम आपको ऐसे ही कुछ आसान टिप्‍स देंगे, जिन्‍हें अपनाकर आप साबूदाने की खिचड़ी को खिला-खिला तैयार कर सकती हैं, तो चलिए जानते हैं कौन से हैं वो टिप्स जिनकी मदद से आप बना सकेंगी खिली-खिली साबूदाने की खिचड़ी. Also Read - Happy Durga Ashtami 2020 Wishes: दुर्गा अष्‍टमी पर भेजें ये SMS, WhatsApp Messages, Images, Quotes

कैसे भिगोएं साबूदाना
अब आप सोच रहे होंगे इसमें क्या बात है तो हम आपको बता दें कि साबूदाना भिगोते वक्त अगर आपने पानी ज्यादा कर दिया तो वो लसलसा सा हो जाता है और वो बनने से पहले ही बेकार हो जाता है. ऐसे में साबूदाना भिगोते वक्त आपको उसको कम से कम दो बार अच्छे से पानी से धोना है और उसे केवल पानी से धोएं हाथों से मसले नहीं. इसके बाद साबूदाना में उतना ही पानी ड़ालें जितने वो पूरा डूब जाए. इसके बाद कुछ घंटो के बाद अगर वो पानी सोख लिया गया है तो इसका मतलब है वो अच्छे से फूल चुका है. इस तरह से साबूदाने को भिगोने पर उसकी सारी चिपचिपाहट दूर हो जाएगी. Also Read - Navratri 2020: शीघ्र विवाह और धन प्राप्ति के लिए माता दुर्गा की पान के पत्तों से करें पूजा, मनोकामनाएं होंगी पूरी

कैसा हो उसे बनाने का तरीका
अगर आप इसे थोड़ा चटपटा और स्वादिष्ट बनाना चाहते हैं तो ऐसे में आप इसमें आलू ड़ालें, आप उबला आलू ना ड़ालें नहीं तोआपकी खिचड़ी चिपचिपी हो सकती है. आप पहले आलू ले उसको छिले और धोकर काटें और अलग से फ्राई करें. इससे आपके साबूदाने को किसी तरह का नुकसान नहीं होगा और वो खिला खिला बनेगा.

बनाते वक्त रखें ये ध्यान
साबूदाना को कऊी भी कुकर में ना पकाएं, दरअसल कुकर में साबूदाना ज्‍यादा पक जाता है और लसलसा हो जाता है. अगर आप कढ़ाई में बना रहे हैं तो ध्यान रहे कि उसे आप कम से कम ढंके और थोड़ी देर पर चलाते रहें ताकि वो कढ़ाई से ना चिपक जाए.