नई दिल्ली: बिजी लाइफस्टाइल के चलते आज के समय में हमारे पास किसी के लिए भी टाइम नहीं है जिस कारण आज लोग अकेले हो गए हैं. काम और पैसे कमाने की होड़ में हम सबसे इतनी आगे  निकल गए हैं कि हमारे कोई दोस्त नहीं हैं जिनसे हम बातें कर सकें या अपने परेशानियों को बांट सकें. ऐसे में आज के समय में डिप्रेशन यानी अवसाद की समस्या काफी आम हो गई हैं. कई बार अवसाद हम पर कुछ इस तरह हावी हो जाता है कि मन में आत्महत्या तक के विचार घर कर जाते हैं. हाल ही में टीवी औप बॉलीवुड के फेमस एक्टर सुशांत सिंहर राजपूत ने अपने मुंबई स्थित घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. कहा जा  रहा है कि सुशांत काफी लंबे समय से डिप्रेशन में थे. ऐसे में अगर शुरुआत से ही डिप्रेशन के लक्षणों का पता लगाकर डॉक्टर की मदद नहीं ली गई तो यह काफी खतरनाक साबित हो सकता है. ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसे तरीके बता रहे हैं जिससे आप डिप्रेशन को खुद पर हावी होने से रोक सकते हैं. Also Read - 'कसौटी ज़िंदगी की' फेम एक्टर Parth Samthaan भी हुए डिप्रेशन का शिकार, पोस्ट शेयर कर कही ये बात

– डिप्रेशन से बचने के लिए आठ घंटे की नींद लें. पूरी नींद लेने से आपका दिमाग तरोताजा रहता है. जिससे दिमाग में नाकारात्मक भाव नहीं आते. Also Read - स्पॉट फिक्सिंग मामले में नाम आने के बाद आत्महत्या के विचार से जूझ रहे थे श्रीसंत

– हर रोज सूरज की रोशनी को कुछ देर  के लिए जरूर देखें. इससे डिप्रेशन जल्दी दूर होता है. Also Read - बिग बॉस कंटेस्टेंट अरहान खान के लिए मुश्किल सफर, पिछले इतने महीनों से जूझ रहे हैं डिप्रेशन से 

– बाहर टहलने जाएं. रोज बाहर टहलें, कभी-कभी कॉफी शॉप में कुछ समय बिताएं या बाहर खाना खाने जाएं. इससे मन में उत्साह बना रहेगा.

– डिप्रेशन को दूर  करने के लिए  आप अपनी विश लिस्ट बना सकते हैं जिसमें हर वह काम जिसमें आपको खुशी मिलती है. इससे काफी हद तक आपको आराम मिलता है.

– ध्यान और योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करें. गहरी सांस लें. ऐसा करने से आपकी सभी इंद्रियों को आराम मिलेगा. डिप्रेशन को दूर करने के लिए यह उपाय लंबे समय से अपनाया जा रहा है. अपनी सांसों पर केंद्रित होकर लंबी सांस लेने से दिमागी तनाव को आराम मिलता है.

– डिप्रेशन को दूर रखने में आपकी डाइट का भी बहुत बड़ा हाथ होता है. फास्ट फूड के सेवन से बचें और हेल्दी पौष्टिक डाइट को अपने आहार में शामिल करें.

-अपने किसी अच्छे मित्र या परिवार के सदस्य से अपने मन की बात शेयर करें. उन्हें ज्यादातर समय अपने साथ रखने की कोशिश करें. ये लोग, डॉक्टर की दी हुई सलाह को अमल में लाकर आपके जल्दी सेहतमंद होने में आपकी मदद करेंगे.