कम अंतराल पर बहुत सारा एनर्जी ड्रिंक लेने से रक्तचाप बढ़ सकती है और हृदय की लय बाधित हो सकती है. एक शोध में यह बात सामने आई है.

आमतौर पर किशोर और युवा एनर्जी ड्रिंक ज्यादा लेते हैं. समय की मांग है कि उन्हें इस बारे में जागरूक किया जाए कि ऊर्जा पेय का उनके शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है.

ऊर्जा पेय में कैफीन, टॉरिन और अन्य उत्तेजक पदार्थो के उच्च स्तर होते हैं, और इनके दुष्प्रभावों को लेकर हमेशा बहस होती रही है. ये पेय रक्तचाप (बीपी) बढ़ाते हैं और इससे दिल के दौरे खतरा बना रह सकता है. इसके अलावा जानलेवा अतालता या एरिदमिया रोग हो सकता है.

हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया (एचसीएफआई) के अध्यक्ष पद्मश्री डॉ.के.के. अग्रवाल का कहना है कि दो से अधिक एनर्जी ड्रिंक लेने से दिल को नुकसान पहुंच सकता है और यह एरिदमिया या असामान्य हृदय-लय जैसी स्थितियों का कारण बन सकता है. इस स्थिति में दिल धड़कने की दर या तो बहुत तेज या बहुत धीमी हो जाती है.

उन्होंने कहा कि एनर्जी ड्रिंक शरीर के विभिन्न महत्वपूर्ण अंगों को रक्त की पर्याप्त आपूर्ति में बाधा उत्पन्न कर सकता है. एरिदमिया आमतौर पर एक बीमार हृदय में होता है और अक्सर छुपा हुआ रह सकता है. इस स्थिति का पता बाद में लगे, इससे अच्छा है कि समय पर चेकअप करा लिया जाए, वरना यह जीवन के लिए घातक हो सकता है.