नई दिल्ली:  मैटरनिटी लीव वो अवकाश है, जो एक महिला कर्मचारी को उसकी गर्भावस्था के लिए, बच्चे के जन्म और नवजात की शुरुआती देखभाल के लिए कंपनी देती है. इस दौरान महिलाओं को काम से कुछ समय के लिए आजादी मिल जाती है. लेकिन इसके बाद काम पर फिर से वापिस जाना कई महिलाओं के लिए काफी मुश्किल हो जाता है. बच्चे को घर पर छोड़कर जाने पर मां को बहुत सी भावनाओं से गुजरना पड़ता है जिस कारण उसे अपने काम पर ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई होती है. ऐसे में अगर आप भी मैटरनिटी लीव के बाद ऑफिस ज्वाइन कर रहे हैं तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना काफी जरूरी है. आइए जानते हैं इन बातों के बारे में-Also Read - Maternity Leave: भारत में मैटरनिटी लीव 12 की जगह 26 सप्ताह हुई, केंद्रीय मंत्री बोले- अब रात में भी काम कर सकेंगी महिलाएं

– कई बार मातृत्व अवकाश के बाद ऑफिस जाते सम महिलाओं के दिमाग में ख्याल आता है कि उनके चले जाने के बाद बच्चे का ख्याल कौन रखेगा इसके लिए जरूरी है कि आप ऑफिस ज्वाइन करने से पहले ही इस बात को घर वालों के साथ डिस्कस कर लें. ताकी आपको ऑफिस में इस बात की चिंता ना हो कि आपका बच्चा क्या कर रहा होगा. किसी के ऊपर अपने बच्चे की जिम्मेदारी सौंपने से पहले पूरी तरह से सुनिश्चित हों ले कि वह आपके बच्चे की देखभाल करने में सक्षम हैं या नहीं. Also Read - Survey: भारत में 2 में से 1 कामकाजी महिला कोरोना महामारी तनाव से पीड़ित, पुरुषों पर भी बढ़ा दबाव

– आपके लिए जरूरी है कि आप अपने काम और अपनी पर्सनल लाइफ के बीच संतुलन रखें. जब आप ऑफिस में हों तो आपका सारा ध्यान ऑफिस में रहे और जब आप घर पर हो तो सारा ध्यान घर के काम में लगाएं. ऐसे करने से ही आपका काम सही तरीके से होगा. Also Read - Working Women In Covid-19 Time: कोविड के समय में वर्किंग वूमन का क्या है हाल, लिंक्डइन के सर्वे से जानें

– जब आपको पता है कि घर पर आपका बच्चा अकेला है और आपका गैरमौजूदगी से परेशान कर सकती हैं तो ऐसे में केवल उतना ही काम करे जितना आपके हो सके और आप समय से घर वापिस जा सकें. अपने आप को प्रूफ करने के लिए ज्यादा काम ना लें.

लंबे समय के बाद दोबारा ऑफिस ज्वाइन करने के बाद लोगों से जुड़ने की कोशिश करें. सीनियर्स से बात करें. जहां से आपने छोड़ा था वहां से पुन: प्रारंभ करें. जब आप काम करना प्रारंभ करें तो उसके बाद अपने सीनियर्स या अपने अधीनस्थों से प्रतिकिया मांगे.