नई दिल्‍ली: एक अच्‍छा दोस्‍त आपको जीवन में हर परेशानी का हल बता सकता है, हर खुशी को दोगुना कर सकता है, हर तरह का राजदार बन सकता है. पर क्‍या हो अगर कोई दोस्‍त आपके लिए परेशानी का सबब बन जाए? तब आप क्‍या करेंगे?Also Read - Happy Friendship Day 2021: WhatsApp पर दोस्तों को स्टीकर भेजकर सेलिब्रेट करें ये खास दिन

Also Read - Kab Hai Friendship Day 2021: इस दिन मनाया जाएगा फ्रेंडशिप डे, यहां जानें इसका इतिहास

अक्‍सर ऐसा तब होता है जब वो दोस्‍त आपसे अच्‍छे से बात करता है पर आपकी उपब्लिधयों से उसे खुशी ना महसूस होती हो. या फिर जब वो आपके पीठ पीछे आपके राज शेयर करता हो या बुराई करता हो, या आपको महसूस हो कि उसकी सलाह उतनी सही नहीं जितनी पहले हुआ करती थी. Also Read - 17 साल की लड़की ने रात 1 बजे बॉयफ्रेंड को बुलाया घर, सो रहीं अपनी ही माँ के साथ...

आपके प्रति वो रवैया नहीं, वो आत्‍मीयता नहीं जो पहले थी. या आपके उन रिश्‍तों में  उसकी वजह से खटास आ रही है जिन्‍हें आप खोना नहीं चाहते. कारण कई हो सकते हैं. पर इसके हल के लिए आपको वो करना होगा, जिन्‍हें करने से आप अब तक हिचकते रहे.

Happy Friendship Day 2018: वैज्ञानिकों ने भी माना दोस्‍ती की वजह से रहते हैं जवान, लंबी होती है उम्र…

toxic friends 4

-उसे उन ग‍लतियों को करने दें जो वो आपके साथ करता/करती हो. जी हां, आपने सही पढ़ा. उसे ना रोकें बल्कि अपनी हद निश्चित कर लें. आप कहां तक सहन कर सकते हैं. फिर धीरे-धीरे उसे अपने जीवन से बाहर निकालने का प्रोसेस शुरू करें. इसके लिए उससे दूरी बनाने की शुरुआत करें यानी उसे इग्‍नोर करने की शुरुआत.

Friendship Day 2018: इन 5 मौकों पर आपके लिए रोता है सच्‍चा दोस्‍त, पक्‍की यारी का ये होता है सुबूत…

– ये बहुत जरूरी है. अक्‍सर हम ऐसा ही करते हैं कि सामने वाले की गलतियों को देखते हैं पर खुद को नहीं परखते. खुद से ईमानदार रहना जरूरी है. अगर आपके व्‍यवहार में कोई गलती है तो उसे सुधारें. पर सामने वाला आपके साथ क्‍या कर रहा है, इस पर कोई कमेंट ना करें. खुद को केवल ये समझाएं कि उसके बर्ताव से जो रहा है, उसमें आपकी गलती नहीं है.

-ना कहने का जीवन में बहुत महत्‍व है. इसलिए ना कहना सीखें. जबरदस्‍ती किसी के साथ रिश्‍ते चलाने का कोई कारण आपके पास ना हो. अगर आप अपनी दोस्‍ती में ईमानदार हैं तो सामने

वाले से यही उम्‍मीद करना आपकी गलती नहीं है. जो आपको तकलीफ दे रहे हैं, उन्‍हें जीवन से निकाल दें.

Friendship Day 2018: इसी हफ्ते मनेगा दोस्‍ती का सबसे बड़ा सेलिब्रेशन, 83 साल पहले हुई थी शुरुआत…

– अगर किसी को आप खुद से दूर कर रहे हैं तो उसका तमाशा लोगों के बीच ना बने. अगर कोई इसके बारे में आपसे बात करें तो भी उससे कुछ ना कहें. ये आपका निजी फैसला है.

– टॉक्सिक दोस्‍तों को बाहर कर देना जरूरी है. पर इसका ये मतलब नही है कि आपको सच्‍चे दोस्‍त नही मिलेंगे. ऐसे कई लोग आपके जीवन में आएंगे, जो आपके पुराने अनुभवों को भुला देंगे.

तो दूर कीजिए ऐसे लोगों को जो केवल अपने बारे में सोचते हैं, और उन दोस्‍तों को समय दीजिए जो आपके साथ हमेशा खड़े हों.

Friendship Day 2018: सच्‍चे और मतलबी दोस्‍त के बीच होते हैं ये 7 फर्क, आसानी से पहचानें FAKE FRIENDS

फ्रेंडशिप डे

दोस्‍ती के रिश्‍ते को सलिब्रेट करने का दिन आ रहा है. इसी हफ्ते रविवार को यानी 5 अगस्‍त को फ्रेंडशिप डे है.

Friendship Day 2018: जब प्‍यार में बदलने लगे दोस्‍ती तो बिना सोचे थाम लें हाथ, होंगे ये फायदे…

क्‍या करते हैं इस दिन

‘फ्रेंडशिप डे’ मनाने का चलन वैसे तो पश्चिमी देशों से शुरु हुआ, लेकिन भारत में भी पिछले कुछ सालों से युवाओं के बीच काफी पॉपुलर हो रहा है. ग्रीटिंग कार्ड, सोशल मीडिया और एसएमएस

के जरिए लोग एक दूसरे को इस दिन पर बधाई देते हैं और पूरी जिंदगी सच्ची दोस्‍ती निभाने का वचन लेते हैं.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.