Gandhi Jayanti 2020: हर साल 2 अक्टूबर के मौके पर देश में गांधी जयंती का पर्व मनाया जाता है. ये एक राष्ट्रीय पर्व है. लोग कई तरीकों से बापू को याद करते हैं. पर क्या कभी आपने सोचा है कि अगर महात्मा गांधी जिंदा होते तो वो अपना जन्मदिन किस तरह से मनाते? Also Read - Gandhi Jayanti 2020 Wishes In Hindi: बापू की 151वीं जयंती, इन संदेशों के जरिए दीजिए बधाई...

शायद उसी तरह से, जिस तरह से वो तब मनाते थे जब वो राष्ट्रपिता नहीं थे. अपने जन्मदिन को मनाने का उनका तरीका बड़ा ही निराला था. Also Read - Mahatma Gandhi Family: महात्मा गांधी का परिवार, अब कौन कहां, क्या कर रहा, जानें पूरी फैमिली ट्री

गांधी जी ने करीबन 100 साल पहले एक बात कही थी, जो आज उनके जन्मदिन मनाने वालों को जरूर जाननी चाहिए. उन्होंने साल 1918 में अपने साथियों से कहा था, ‘मेरी मृत्यु के बाद मेरी कसौटी होगी कि मैं जन्मदिन मनाने लायक हूं कि नहीं’. Also Read - Gandhi Jayanti 2020 Special: बापू की ऐसी 11 तस्वीरें, जो आपने कभी नही देखी होंगी...

जन्मदिन पर बापू क्या करते थे?
गांधी जी पर लिखी किताबों में इस बात का जिक्र है कि 2 अक्टूबर का दिन गांधी जी के लिए आम दिन की तरह ही होता था. वे इस दिन गंभीर रहते थे, प्रतिदिन की तरह ईश्वर से प्रार्थना करते थे, चरखा चलाते थे. इस दिन वे बाकी दिनों की अपेक्षा कुछ ज्यादा समय मौन भी रहते थे.

2 अक्टूबर है खास
महात्मा गांधी का पूरा नाम मोहनदास करमचन्द गांधी था. उन्होंने अहिंसा आंदोलन के दम पर अंग्रेजों से देश को आजाद करा दिया था. गांधी जी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था. इसलिए इस दिन गांधी जयंती मनाई जाती है.