जो पुरुष गांजा पीते हैं उनके स्‍पर्म में कई बदलाव होते हैं. यही नहीं उनके बच्‍चों में भी इसी तरह की कमी आने की संभावना रहती है. ये बात एक नए शोध में सामने आई है. Also Read - Health Tips: नुकसानदायक होने के साथ ही सेहत के लिए फायदेमंद भी होता है भांग का सेवन, जानें बेहतरीन लाभ

Also Read - इस 'नशे' से घटता है वजन, पर अच्‍छा नहीं माना जाता इसका सेवन!

शोध किया है ड्यूक यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने. रिपोर्ट में कहा गया है कि इस कमी का कारण होता है tetrahydrocannabinol (THC) नामक तत्‍व. ये तत्‍व तंबाकू धूम्रपान, पेस्टिसाइड्स जैसा होता है जो स्‍पर्म काउंट को कम करता है. Also Read - भारत में गांजा को वैध कराना चाहते हैं उदय चोपड़ा, कहा, 'ये हमारी संस्कृति का हिस्सा'

बिहार, उत्‍तर प्रदेश में पुरुषों को हो रही ये जानलेवा बीमारी, जानें लक्षण और बचाव…

स्‍टडी में ये भी कहा गया है कि गांजा पीने वाले के शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं. जो हार्मोंस और डीएनए से जुड़े हैं.

Marijuana

ड्यूक में प्रोफेसर स्‍कॉट कॉलिंस ने कहा, ‘हमने शोध में पाया कि गांजा का सेवन करने वाले पुरुषों में गांजा और उनके प्रजनन स्‍वास्‍थ्‍य में संबंध था. ये संबंध इस तरह का था कि इसकी वजह से स्‍पर्म के जेनेटिक प्रोफाइल पर असर होता है.’

Winter Tips: ऐसा होगा खानपान तो नहीं सताएगा सर्दी-जुकाम, जानें सर्दियों में क्‍या-क्‍या खाएं…

शोध के दौरान, ऐसे लोगों के स्‍पर्म काउंट की तुलना की गई जो लोग गांजे का नियमित सेवन करते हैं, या पिछले कुछ माह से हफ्ते में एक बार भी सेवन कर रहे हैं और जिन्‍होंने कभी गांजा पीया ही नहीं.

टीम ने पाया कि जिन पुरुषों के यरीन में THC की जितनी ज्‍यादा मात्रा थी, उनमें जेनेटिक बदलाव होने की उतनी ही आशंका थी या ये बदलाव होने आरंभ हो चुके थे.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.