आप कैसे दिखते हैं इसमें आपकी त्वचा महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. त्वचा ही हमारे शरीर के अंदर जीवाणु, विषाणु और खतरनाक पराबैंगनी किरणों के प्रवेश को रोकती है. स्वस्थ त्वचा हमारे शरीर के लिए विटामिन डी बनाने में मदद करती है जो स्वस्थ दांत और हड्डियों के लिए आवश्यक है. त्वचा शरीर के तापमान को नियंत्रित रखती है इसलिए हर किसी के लिए स्वस्थ शरीर के साथ ही स्वस्थ त्वचा भी जरूरी है.

स्वस्थ त्वचा के लिए खानपान और देखभाल आवश्यक है. मौसम में बदलाव, प्रदूषण और मानसिक तनाव के बीच अपनी त्वचा को स्वस्थ्य एवं आकर्षक बनाए रखने के लिए कुछ आसान उपाय दिए गए हैं.

नियमित सफाई: रूखी त्वचा वालों को संभवता गुनगुने पानी से नहाने से बचना चाहिए. इससे न केवल आपकी त्वचा में पानी की कमी हो जाती है बल्कि आपके शरीर से निकले आवश्यक तैलीय पदार्थ भी धुल जाते हैं. अपनी त्वचा के अनुरूप बॉडी स्क्रब चुनें जो शरीर की अच्छी तरह से सफाई कर सके. त्वचा की रगड़ कर सफाई करने से मृत कोशिकाएं दूर होती हैं. मुलायम स्क्रब का उपयोग करना बेहतर है.

त्वचा में नमी बनाएं: त्वचा की मृत कोशिकाओं और इस पर जमी धूल-मिट्टी की सफाई के बाद बॉडी लोशन लगाएं. त्वचा में नमी बनाए रखने के लिए प्राकृतिक चीजें जैसे एलोवेरा, जैतून का तेल, शिया बटर आदि से बने मॉइस्चराइजर या बॉडी लोशन का उपयोग करें. ऐसा मॉइस्चराइजर चुनें जिसमें ओमेगा3 फैटी एसिड, एंटीऑक्सीडेंट, त्वचा से जुड़े महत्वपूर्ण विटामिन जैसे विटामिन डी, ई और के हों. 15 प्रतिशत या इससे अधिक सांद्रता वाले विटामिन सी, एल-एब्जॉर्बिक एसिड से लैस क्लींजर या मॉइस्चराइजर स्वस्थ त्वचा के लिए बहुत है. नहाने के तुरंत बाद अपनी त्वचा को मॉइस्चराइज करना सबसे अच्छा होता है क्योंकि त्वचा के छिद्र खुले होते हैं और त्वचा बॉडी लोशन के जरिए पोषण को आसानी से सोख लेती है.

हानिकारक किरणों से सुरक्षा: त्वचा के स्वास्थ्य के लिए सूरज की हानिकारक पराबैंगनी किरणों से सुरक्षा भी जरूरी है. घर हो या बाहर रोजाना त्वचा पर सनस्क्रीन लगाना चाहिए. त्वचा पर पूरी तरह से सनस्क्रीन के लेप से यूवीबी और यूवीए किरणों से बचाव होता है.