कोई है जो आपकी ऑनलाइन खरीदारी पर पूरी नजर रखता है. उसे पता है कि आपने कब क्‍या देखा, और किसे खरीदा.

वो कोई और नहीं बल्कि ‘गूगल’ है. वो आपके निजी जीमेल अकाउंट पर भेजी गई खरीद रिसीप्ट के माध्यम से आपके द्वारा की गई प्रत्येक ऑनलाइन खरीदारी पर नजर रखता है.

सीएनबीसी में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, यह जानकारी यूजर्स के लिए निजी वेब टूल के माध्यम से उपलब्ध है. कंपनी का दावा है कि वेब टूल आपके डाटा को गोपनीय रखता है.

गूगल ने हालांकि जोर देकर कहा कि वह इस जानकारी का उपयोग व्यक्तिगत विज्ञापन के लिए नहीं करता है.

कंपनी ने साल 2017 में कहा था कि वह जीमेल मैसेजों से इकट्ठे हुए डाटा का उपयोग व्यक्तिगत विज्ञापनों में करना बंद कर देगी.

गूगल ने द वर्ज से एक बयान में कहा, ‘आपको एक स्थान पर आपकी खरीदारी, बुकिंग या सब्सक्रिप्शन पर आसानी से निगरानी रखने में सहायता करने के लिए हमने एक व्यक्तिगत केंद्र बनाया है जिसे सिर्फ आप देख सकते हैं’.

कंपनी ने आगे कहा, ‘आप यह जानकारी कभी भी डिलीट कर सकते हो. हम आपको विज्ञापन देने के लिए आपके जीमेल अकाउंट से ईमेल रिसीप्ट और पर्चेज पेज पर कनफर्मेशन मैसेज समेत किसी भी जानकारी का उपयोग नहीं करते हैं’.

गूगल ने हालांकि यह नहीं कहा कि यह टूल कितने समय से एक्टिव है.