नई दिल्ली: मानसून में होने वाली बारिश अपने साथ कई तरह की दिक्कतें भी लेकर आती है. इस मौसम में ज्यादातर स्किन और बाल संबंधी समस्याएं शुरू हो जाती हैं. बता दें कि मानसून में बारिश के कारण होने वाली बीमारियां तेजी से फैलती हैं. ऐसे में अपना ध्यान रखना काफी जरूरी होता है. इस मौसम में उमस के कारण बाल फ्रिजी और डैमेज हो जाते हैं. ऐसे में आप मानसून में बाल झड़ने की समस्या से घरेलू उपायों के जरिए निजात पा सकते हैं. आइए जानते हैं इन घरेलू उपायों के बारे में- Also Read - Monsoon Rain Bath Benefits: बारिश के पानी में नहाएं जमकर, बालों और स्किन के लिए होता है फायदेमंद

मेथी दाना- भारतीय रसोई में मेथी का इस्तेमाल खाने में स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है. वहीं मेथी औषधीए गुणों से भरपूर होने के कारण बीमारियों व ब्यूटी प्रॉब्लम्स को दूर करने में भी मदद करता है. इतना ही नहीं, मेथी बालों के लिए भी किसी वरदान से कम नहीं है. मेथी का सही इस्तेमाल सफेद बालों से लेकर गंजेपन तक की परेशानी से निजात दिलाता है. एसिड, प्रोटीन व औषधीए गुणों से भरपूर मेथी बालों को पोषण देती है, जिससे वह स्वस्थ और मजबूत बने रहते हैं. साथ ही मेथी हेयर मास्क लगाने से हेयर फॉल, सफेद बाल और रूसी जैसी समस्याओं से छुटकारा मिल जाता है. मेथी का सेवन आप कद्दू जैसी सब्जियों के साथ-साथ रायता में डालकर कर सकते हैं. Also Read - Hair Care Tips: घर पर ही तैयार करें ये खास हेयर सीरम, चमक उठेंगे आपके बाल

हलीम के बीज- हलीम के बीज कैल्शियम, विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, प्रोटीन, लौह, फोलिक एसिड और आहार फाइबर जैसे पूर्ण पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं. हलीम के बीजों में मौजूद प्रोटीन संतृप्ति की भावना को बढ़ाते हैं. हलीम के बीज में प्रोटीन व आयरन का अच्‍छा स्‍त्रोत हैं. यदि आप अपनी डाइट प्‍लान में हलीम के बीजों से बनी डिश या इसके बीजों का सेवन करते हैं, तो आपके बाल झड़ने की समस्या दूर होगी. इससे आपके बाल घने व मजबूत होंगे. Also Read - Eye Care Tips: मानसून में इन खास टिप्स के जरिए रखें बच्चों की आंखों का ख्याल

जायफल- जायफल बालों के लिए भी बहुत उपयोगी है. इसके तेल को बालों की जड़ों में लगाने से बाल मजबूत होते हैं. इससे 10 से 15 मिनट तक सिर की मालिश करने से स्कैल्प को पोषक तत्व मिलते हैं. जिससे बाल झड़ने की समस्या खत्म हो जाती है. जायफल में कई पोषक तत्वों के साथ ही साथ ही एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन, एंटी- इंफ्लेमेट्री गुण, फाइबर और मिनरल्स भी मौजूद हैं. दूध में एक चुटकी मिलाएं और इसे रात के भोजन के बाद इसका सेवन कर लें.