नई दिल्‍ली: अक्‍सर लोग दोस्‍ती, यारी को खुशी, मस्‍ती से जोड़कर देखते हैं. पर आपको जानकर हैरानी होगी कि सच्‍चे दोस्‍त एक-दूसरे के लिए कई बार रोते भी हैं. ऐसे कई मौके होते हैं जब दोस्‍त की वजह से आंसू छलक जाएं या आंखें आंसुओं से सराबोर हो जाएं.Also Read - Kab Hai Friendship Day 2021: इस दिन मनाया जाएगा फ्रेंडशिप डे, यहां जानें इसका इतिहास

Also Read - 17 साल की लड़की ने रात 1 बजे बॉयफ्रेंड को बुलाया घर, सो रहीं अपनी ही माँ के साथ...

हम सभी के साथ ये होता है. आखिर ये कौन से मौके होते हैं, जब ऐसा होता है. हम बताते हैं- Also Read - Rahul Vaidya Disha Parmar Wedding: साथ जीने-मरने की खाई कसमें, सात जन्म तक साथ निभाएंगे

Friendship Day 2018: इसी हफ्ते मनेगा दोस्‍ती का सबसे बड़ा सेलिब्रेशन, 83 साल पहले हुई थी शुरुआत…

Friendship Day

– जब आपके दोस्‍त का कोई बड़ा सपना पूरा हो जाए. उस समय दोस्‍त की खुशी और इमोशंस के बहाव में आप बह जाते हैं. उस समय जो मिले-जुले एक्‍सप्रेशंस होते हैं उन्‍हें शब्‍दों में बयां नहीं किया जा सकता.

Friendship Day 2018: सच्‍चे और मतलबी दोस्‍त के बीच होते हैं ये 7 फर्क, आसानी से पहचानें FAKE FRIENDS

– जब दोस्‍त पर कोई बड़ी मुसीबत आ जाए, वो किसी दुर्घटना का शिकार हो जाए. तब भी ऐसा होता है.

– दोस्‍त के किसी अजीज या परिवार वाले के साथ कुछ हो जाए तो उसके दुख में आप भी उतने ही दुखे हो जाते हैं.

– दोस्‍त के जीवन की कोई बड़ी घटना जैसे शादी, बच्‍चे का जन्‍म. ऐसे में आप भी इमोशनल हो जाते हैं.

– दोस्‍त को रोता देखकर. जी हां, ये सच है. अगर दोस्‍त किसी भी वजह से रो रहा हो तो आप अपने आंसुओं को नहीं रोक पाएंगे.

Friendship Day 2018: जब प्‍यार में बदलने लगे दोस्‍ती तो बिना सोचे थाम लें हाथ, होंगे ये फायदे…

bestfriends hugging

फ्रेंडशिप डे

दोस्‍ती के रिश्‍ते को सलिब्रेट करने का दिन आ रहा है. इसी हफ्ते रविवार को यानी 5 अगस्‍त को फ्रेंडशिप डे है.

क्‍या करते हैं इस दिन

‘फ्रेंडशिप डे’ मनाने का चलन वैसे तो पश्चिमी देशों से शुरु हुआ, लेकिन भारत में भी पिछले कुछ सालों से युवाओं के बीच काफी पॉपुलर हो रहा है. ग्रीटिंग कार्ड, सोशल मीडिया और एसएमएस के जरिए लोग एक दूसरे को इस दिन पर बधाई देते हैं और पूरी जिंदगी सच्ची दोस्‍ती निभाने का वचन लेते हैं.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.