Republic Day 2019: गणतंत्र दिवस यानि 26 जनवरी को भारतीय बेहद ही उत्साह के साथ मनाते हैं. इस बार हम 70वां गणतंत्र दिवस मना रहे हैं. 26 जनवरी 1950 भारतीय इतिहास में इसलिए भी महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि भारत का संविधान, इसी दिन अस्तित्व में आया था और इसी दिन भारत पूर्ण गणतंत्र देश बना. भारत का संविधान किसी भी देश का लिखित सबसे बड़ा संविधान है.

Happy Republic Day 2019: हमारी आन, बान, शान का प्रतीक है तिरंगा झंडा, जानिए अब तक का सफर

संविधान निर्माण में लगे इतने दिन
संविधान निर्माण की प्रक्रिया में 2 वर्ष, 11 महीना, 18 दिन लगे थे. भारतीय संविधान के निर्माताओं ने विश्व के अनेक संविधानों के अच्छे लक्षणों को अपने संविधान में आत्मसात करने का प्रयास किया है. देश को गौरवशाली देश बनाने में जिन देशभक्तों ने अपना बलिदान दिया उन्हें 26 जनवरी दिन याद किया जाता और उन्हें श्रद्धाजंलि दी जाती है.

गणतंत्र दिवस 2019: हिंदी में देखें 26 जनवरी के शुभकामना संदेश, Whatsapp और Facebook पोस्ट

डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ने ली पहले राष्‍ट्रपति के रूप में शपथ
26 जनवरी 1950 को डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ने गवर्नमेंट हाउस के दरबार हाल में भारत के पहले राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली. इर्विन स्टेडियम में झंडा फहराया गया. यही पहला गणतंत्र दिवस समारोह था. गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पर तिरंगा फहराया जाता है. फिर राष्ट्रगान गाया जाता है और 21 तोपों की सलामी होती है. साथ ही गणतंत्र दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री अमर ज्योति पर शहीदों को श्रद्धाजंलि देते हैं जिन्होंने देश के आजादी में बलिदान दिया.

Republic Day Celebration 2019: 26 जनवरी को पहली बार यहां फहराया गया था तिरंगा झंडा, नाम सुनकर चौंक जाएंगे आप

इस दिन से शुरू हुआ गणतंत्र दिवस मनाने का वर्तमान तरीका
गणतंत्र दिवस मनाने का वर्तमान तरीका 1955 में शुरू हुआ. इसमें साल पहली बार राजपथ पर परेड हुई. परेड के पहले मुख्य अतिथि पाकिस्तान के गवर्नर जनरल मलिक गुलाम मोहम्मद थे. और अब अलग-अलग राज्यों को झांकियां और सरकारी विभागों की झांकियां भी निकलती हैं.