नई दिल्ली: सर्दियों का मौसम शुरू हो गया है. इस मौसम में शरीर को बाहर से गर्म रखने के साथ ही अंदर से भी गर्म रखने की जरूरत होती है. साथ ही देश में तल रही कोरोना महामारी के चलते भी सर्दियों में खास ख्याल रखने की जरूरत है. ऐसे में आप कुछ खास जड़ी-बूटियों का सेवन कर खुद को सुरक्षित रख सकते हैं. आज हम बात कर रहे हैं अश्वगंधा की. अश्वगंधा का नाम को सभी ने सुना होगा. लेकिन कम ही लोग हैं जो इसके फायदों से वाकिफ है. अश्वगंधा का सेवन सर्दियों में करना काफी फायदेमंद माना जाता है. इसका सेवन करने से व्यक्ति के अंदर  स्फूर्ति देखने को मिलती है. ऐसे में आज हम आपको इसकी चाय बनाने के बारे में बताने जा रहे हैं.Also Read - Health Tips: रात को सोने से पहले भूलकर भी ना करें इन खाद्य पदार्थों का सेवन, नींद पर पड़ सकता है बुरा प्रभाव | Expert Speaks

अश्वगंधा चाय बनाने की विधि Also Read - International Women Day 2022: आयुर्वेदाचार्य से जानें महिलाओं के लिए क्यों जरूरी है अश्वगंधा

अश्वगंधा पाउडर से एक कप चाय बनाने के लिए आप सबसे पहले डेढ़ कप पानी को गैस पर उबलने के लिए रख दें. जब पानी तेज गर्म हो जाए तो उसमें 1 टी-स्पून (एक छोटा चम्मच) अश्वगंधा पाउडर डालें. इस पानी को तब तक पकाएं, जब तक यह 1 कप ना रह जाए. आपकी अश्वगंधा चाय तैयार है. इसमें आप शहद डालकर भी पी सकते हैं. इसके साथ गुड का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि गुड की तासीर काफी गर्म होती है. और अश्वगंधा की तासीर भी काफी गर्म होती है. Also Read - Ayurvedic Oil: इस आयुर्वेदिक तेल की कुछ बूंदें कई समस्याओं को दूर करने में हैं मददगार, जानें इस्तेमाल करने का सही तरीका

अश्वगंधा के फायदे

– रात में सोते समय बिस्तर पर करवट बदलते रहते हैं इसका मतलब है कि आपको अच्छी नींद नहीं आती है. ऐसे में अश्वगंधा का सेवन इस समस्या के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं.

– अश्वगंधा का सेवन करने से दिल संबंधित बीमारियों का खतरा कम हो जाता है क्योंकि इसमें पाए जाने वाले एंटीआक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक होते हैं.

– अश्वगंधा में पाए जाने वाले एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण लिवर में होने वाली सूजन की समस्या दूर करने में सहायक होता है. यह सूजन कम करता है.

– अश्वगंधा का सेवन करने से कैंसर जैसी घातक बीमारी से भी बचा जा सकता हैं. इसमें मौजूद एंटी-ट्यूमर गुण वैकल्पिक उपचार के लिए काफी अच्छा माना जाता है.