नई दिल्ली: सर्दियों का मौसम शुरु हो चुका है और इस मौसम में खाई जाने वाली एक हेल्दी चीज है गाजर, बाजार में सब्जी खरीदते समय आपको अलग-अलग तरह की गाजर दिखती होंगी. जिसमें लाल, सफेद, पर्पल, पीली आदि होती हैं. गाजर भले ही किसी भी रंग की हो इन सभी में भरी मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं. वहीं, अगर बात पर्पल गाजर की करें तो इसमें एंटीऑक्सीडंट भरपूर मात्रा में होते हैं. गाजर में चार प्रकार के फाइटोकैमिकल्स पाए जाते हैं. ये भी एक तरह के बायोऐक्टिव कंपाउंड्स होते हैं, जो पौधों से प्राप्त होनेवाले फल-सब्जियों में पाए जाते हैं. लेकिन गाजर उन चुनिंदा फूड्स में शामिल है, जो इनकी खूबियों से भरपूर होते हैं. Also Read - Health Tips: अविवाहित और सिंगल रहने वाले लोंगों की लाइफ पर पड़ते हैं ये असर, आप भी जानें

बैंगनी गाजर विटामिन और खनिजों का एक अच्छा स्रोत हैं और इसमें एंथोसायनिन नामक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो आपके स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डालते हैं. आइए जानते हैं पर्पल कलर की गाजर खाने के फायदों के बारे में- Also Read - Health Tips: गैस और पेट की जलन से पाना चाहते हैं छुटकारा तो इस तरह करें पीली सरसों का इस्तेमाल

वजन कम करने में सहायक- पर्पल गाजक का सेवन करके लंबे समय तक आपका पेट भरा रहता है. इसमें अधिक मात्रा में फाइबर होने के कारण आपको भूख भी कम लगती हैं. एक स्टडी में पता चला है कि जो लोग अधिक एंथोसाइनिन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं,उनका वजन कम होता है. Also Read - Amla Tea Benefits: सर्दियों में रोजाना पीएं आंवला टी, डायबिटीज और मोटापा हो जाएगा छू-मंतर

मेटाबॉलिक सिंड्रोम का खतरा कम – मेटाबोलिक सिंड्रोम उन स्थितियों का एक समूह है जो मधुमेह, हृदय रोग और स्ट्रोक के जोखिम को बढ़ाता है. ऐसे में बैंगनी गाजर में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट इन सभी बीमारियों को कम करते हैं और सबी अंग सही तरह के कार्य कर पाते हैं.

कोलेस्ट्रॉल लेवल होता है कम- बैंगनी गाजर में एंथोसायनिन की उपस्थिति आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को ध्यान में रखते हुए हृदय रोग के जोखिम को कम कर सकती है. एंथोसायनिन खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने और अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में मदद कर सकता है.

डायबिटीज के खतरा कम- मोटापा या अधिक वजन होने से मधुमेह का खतरा बढ़ जाता है. और अध्ययनों से पता चला है कि एंथोसायनिन से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन मधुमेह के जोखिम को रोकने में मदद कर सकता है.