नई दिल्‍ली: लोग तो यही कहते हैं कि दोपहर के समय सोने से हमारे जीवन में वात दोष लगता है, इसलिए इस समय नहीं सोना चाहिए. शास्‍त्र के अनुसार, जब हमें ऊर्जा देने वाले सूर्यदेव जगते हैं तो ऐसी स्थिति में हमारा सोना सही नहीं होता. साइंस की मानें तो दोपहर को सोने से खाया हुआ भोजन सही नहीं पचता और धीरे-धीरे हम मोटापे का शिकार हो जाते हैं और इसके बाद कब्‍ज, गैस और अपच की शिकायत बढ़ जाती है. पर कुछ लोग दोहपर के खाने के बाद थकावट महसूस करते हैं. ऐसे में नींद आना स्‍वाभाविक है और ऐसा हर किसी के साथ होता है. जब सोने की व्‍यवस्‍था हो जाती है तो कुछ इंसान कुछ समय सोकर खुद को फ्रेश कर लेता है और नहीं सोने पर उसे आलस और जंभाई आती रहती है.

क्‍या आप भी 6 घंटे से कम नींद लेते हैं तो खतरे में है आपका ‘दिल’

कहने का तात्‍पर्य यही है कि दोपहर के समय या दिन में न सोने से सेहतमंद रहा जा सकता है. दोपहर में अक्‍सर खाना खाने के बाद जोरदार नींद महसूस करते हैं पर दिन में सोने की व्‍यवस्‍था नहीं होती है. काम या ऑफिस में होने के चलते दोपहर के भोजन के बाद नींद नहीं मिल पाती है, ऐसे में सुस्‍ती बढ़ जाती है, पर यह सच है कि दोपहर की नींद से आलस दूर हो जाता है. यूनिवर्सिटी ऑफ पेनसिलवेनिया में साइकलॉजी के असिस्‍टेंट प्रोफेसर का कहना है कि दोपहर में सोने से आलस दूर होता है. इसके अलावा ओवरऑल परफॉमेंस और प्रतिरोधक क्षमता मजबूत बनाने में भी दोपहर की नींद फायदेमंद है, जो लोग दिन के समय सोते हैं, उनमें दिल की बीमारी का खतरा बाकी लोगों के मुकाबले कम होता है.

Health Alert: जानें क्या है ‘विंटर ब्लू’, सर्दियों में क्यों बढ़ते हैं लोगों में Depression के लक्षण

वर्कआउट के बाद तुरंत सोना अच्‍छी बात नहीं
जो लोग दोपहर के समय 15-30 मिनट की झपकी लेते हैं, उनका आलस दूर हो जाता है, जो तनाव या मानसिक थकावट को दूर करना चाहते हैं वे 90 मिनट की नींद ले सकते हैं. दिन में नींद पर हुए रिसर्च में यह बात भी सामने आई है कि वर्कआउट के बाद तुरंत सोना अच्‍छी बात नहीं है, क्‍योंकि इसके बाद दिमाग तेजी से काम करने लगता है, जिस कारण नींद आने का आभास होता है, लेकिन इसके कम से कम 2 घंटे बाद ही सोना चाहिए. इस बात का ध्‍यान रखें कि अगर दोपहर के समय नींद महसूस नहीं हो रही तो सोना नहीं चाहिए. इससे कोई फायदा नहीं मिलता.

सिर्फ अच्‍छी सेक्‍स लाइफ से ही नहीं बनते अच्‍छे रिश्‍ते, पार्टनर को खुश रखने के लिए अपनाए ये टिप्स

कितने घंटे की नींद जरूरी
वैसे तो 24 घंटे में हर किसी को 7 से 8 घंटे नींद की जरूरत होती है. लेकिन इसके लिए कोई सामान्‍य नियम नहीं है. छोटे बच्‍चों के शारीरिक विकास के लिए दिन में 14-17 घंटे की नींद लेनी चाहिए. कुछ बच्‍चे तो 19 घंटे भी सोते हैं. जैसे-जैसे बच्‍चे बड़े होते हैं उनकी नींद भी कम होने लगती है. 4 से 11 महीने के बच्‍चे को 12 से 15 घंटे की नींद लेनी चाहिए. एक से दो साल के बच्‍चे को 9 से 16 घंटे की नींद लेने से फायदा मिलता है.

Blind Date है क्‍या, अगर आप भी करने जा रहे ऐसा तो रखें इन बातों का ध्‍यान

बच्‍चों को कितने घंटे सोना चाहिए
विशेषज्ञों के अनुसार, चार से 6 साल के बच्‍चे को 10 से 13 घंटे की नींद लेनी चाहिए. 8 घंटे से कम सोना इस उम्र में बच्‍चे के लिए ठीक नहीं है. 7 से 13 घंटे साल की उम्र के बच्‍चे को पूरे दिन में 9 से 11 घंटे की नींद लेनी चाहिए. किशोरावस्‍था में कम से कम 8 और ज्‍यादा से ज्‍यादा 10 घंटे की नींद की जरूरत होती है.

कहीं आप भी तो नहीं हैं DemiSexual? जानें क्‍या है ये टर्म, कैसे होती है ऐसे लोगों की पहचान…

टीन एज वाले इतने घंटे सोये
18 साल से 26 साल की उम्र में 7 से 9 घंटे की नींद लेना अच्‍छा है, लेकिन 6 घंटे से कम सोने से सेहत को नुकसान पहुंचता है. 30 से बड़ी उम्र के लोगों के लिए 7-8 घंटे की नींद की सलाह दी गई है, जबकि 60 साल से ज्‍यादा उम्र के लोगों को सामान्‍य से ज्‍यादा घंटे सोने की जरूरत होती है. इस उम्र में सेहत संबंधी कई तरह की परेशानियां आ जाती हैं. थकावट या मानसिक तनाव को दूर करने के लिए 10 से 12 घंटे या इससे ज्‍यादा की नींद भी ली जा सकती है.

Health Alert: कैल्शियम के कण दे सकते हैं दिल के रोग का संकेत

नींद न आने पर दिन में सोने से बचें
अगर आपको दिन में नींद नहीं आती है तो दिन में सोने से बचें. कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि लगभग 50 फीसदी लोगों को दोपहर में सोने से ज्‍यादा फायदा नहीं होता है. इन लोगों में सरकेडियन रिदम होता है. सरकडियम रिदम शरीर को बताती है कि कब सोना है तो इससे ये पता चलता है कि आपके शरीर को आराम की जरूरत नहीं है. एक बात तो तय है कि यदि आपको दोपहर में नींद आ रही है तो कुछ समय के लिए ही सही नींद ले लीजिए और यदि दोपहर में खाने के बाद सोने की इच्‍छा नहीं हो रही है तो नहीं सोना है. ऐेस में आप खुद ही तय कर सकते हैं कि दोपहर में आपके लिए सोना कितना जरूरी है.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.