Health Tips:  एक व्यक्ति के शरीर में कई हार्मोन होते हैं जो बॉडी के विकास और सामान्य प्रक्रियाओं मे मदद करते हैं. जहां पुरुषों के शरीर में टेस्टेस्टेरॉन नाम का हार्मोन पाया जाता है वहीं, महिलाओं में एस्ट्रोजन हार्मोन पाया जाता है. एस्ट्रोजन हार्मोन की बात की जाए तो यह महिलाओं के लिए बेहद जरूरी होता है. महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन की कमी से ना सिर्फ पीरियड्स में परेशानी होती है बल्कि महिलाओं को और भी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है. Also Read - Health Tips: कहीं आप भी तो रात में इस तरह का अंडरवियर पहनकर नहीं सोते? इन बीमारियों के हो जाएंगे शिकार

महिलाओ में एस्ट्रोजन हार्मोन की कमी के कारण
– थाइराइड डिसऑर्डर
– कीमोथेरेपी
– आनुवांशिक
– पिट्यूटरी ग्रंथि का धीरे काम
– आनुवांशिक Also Read - Chaitra Navratri 2021 Food Ideas : आप भी रखने वाले हैं चैत्र नवरात्रि के व्रत, तो खाएं ये चीजें, डिहाइड्रेशन के नहीं होंगे शिकार

एस्ट्रोजन हार्मोन में कमी के लक्षण Also Read - Health Tips: बीमारियों से रहना चाहते हैं दूर तो रोज इतने मिनट जरूर करें इंटेंस एक्सरसाइज

– समय पर पीरियड्स ना आना
– पीरियड्स में ज्यादा ब्लीडिंग
– अचानक भूख ना लगना
– बैचेनी
– नींद ना आना
– डिप्रेशन
– अचानक वजन बढ़ना
– हड्डियों में दर्द

एस्ट्रोजन की कमी से होने वाली दिक्कते

प्रेगनेंसी में परेशानी- एस्‍ट्रोजन की कमी की वजह से ओव्‍यूलेशन में दिक्‍कत आती हैं, जिसके चलते महिलाओं को गर्भधारण करने में काफी दिक्कत होती है.

कैंसर- बढ़ जाता है. एक शोध के अनुसार, बॉडी में एस्‍ट्रोजन का स्तर कम होने पर ब्रैस्ट कैंसर का खतरा काफी बढ़ जाता है.

यूटीआई- एस्ट्रोजन की कमी के कारण मूत्रमार्ग में मौजूद टिश्‍यू भी पतले हो जाते हैं और इनका विकास भी रूक जाता है. इसके कारण महिलाओं में यूटीआई की समस्‍या हो सकती हैं.