नई दिल्ली: हर व्यक्ति को डॉक्टर एक दिन में 4 से 5 लीटर पानी पीने की सलाह देते हैं. ऐसें में कुछ लोग तो इसे पूरा कर लेते हैं जबकि कुछ इसे पूरा नहीं कर पाते. कई लोगों का यह भी कहना होता है कि पानी में कोई टेस्ट नहीं होता जिस कारण वह उसे ज्यादा नहीं पी पाते तो इसके लिए वह अपनी बॉडी में वॉटर के लेवल को बढ़ाने के लिए कई और तरीके अपनाते हैं जैसे जूस, हाई वॉटर वाले फ्रूट्स आदि. तो अगर आपको भी ज्यादा पानी पीने में दिक्कत होती है तो आप इंफ्यूज्ड वॉटर का सहारा ले सकते हैं.

क्या होता है इंफ्यूज्ड वॉटर

कई प्रकार की चीजों से तैयार किया जाने वाला पानी इंफ्यूज्ड वॉटर कहलाता है. इसे कई प्रकार की फल-सब्जियों और जड़ी बूटियों से मिलाकर बनाया जाता है. फल सब्जियों और जड़ी-बूटियों को पहले पानी में भिगोया जाता है, जिससे इस पानी में इन सभी चीजों के मिनरल्स आ जाते हैं. इस पानी में सभी प्रकार के मिनरल्स आने की वजह से यह पानी ताजगी से भरा और जायकेदार भी लगता है.

जानें क्या हैं इसके फायदे

फाइटोन्‍यूएंट्स (phytonutrients) के स्‍तर को कम करने के साथ कैंसर, हृदय रोग और अस्‍थमा से लड़ने में मदद करते हैं. दालचीनी में वजन घटाने के साथ ही एंटीआक्‍सीडेंट, एंटीइंफ्लामेंट्री, और एंटीबैक्‍टीरियल गुण होते हैं जो कोलेस्‍ट्रॉल को भी कम करते हैं और कार्डियोवैस्‍कुलर बीमारियों के खतरे को कम करते हैं.

नींबू और अदरक इंफ्यूज्ड वॉटर – नींबू और अदरक के छोटे-छोटे टुकड़े करके एक बड़े गहरे बर्तन में डालें, फिर इसमें दालचीनी का टुकड़ा भी डालें. इसके बाद इसमें पानी डालें. अब इस बर्तन को फ्रिज में रख दें लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि इस पानी में कोई छिलका न रह जाए नही तो यह पानी पीने में कड़वा लगेगा. इस इंफ्यूज्ड वॉटर को तीन दिन तक रखा जा सकता है.

नीबू और पुदीना इंफ्यूज्ड वॉटर– पानी में एक टुकड़ा नीबू और पुदीने की कुछ पत्तियों को मिलाएं. रिफ्रेशिंग स्वाद के साथ-साथ यह नेचुरल क्लिजिंग का भी करता है. साथ ही शरीर को प्राकृतिक रूप से ठंडा भी रखता है. नीबू से शरीर को विटामिन सी भी प्राप्त होता है. यह इन्फ्यूजन गर्मी से राहत पाने का भी बेहतर उपाय है. इतना ही नहीं नीबू एल्केट्रोलाइट्स का भी काम करता है.

खीरा, नीबू, पुदीना और अदरक इंफ्यूज्ड वॉटर– गर्मी के दिनों में यह सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला इन्फ्यूज्ड ड्रिंक है. इसमें कई तरह के प्राकृतिक फायदे मौजूद हैं. नीबू में मौजूद पेप्सिन वसा को बर्न करने में मदद करता है. पुदीना और अदरक में मौजूद जेंजेरॉल पाचनशक्ति को बूस्ट करने के साथ ही फैट कम करता है. वहीं दूसरी तरफ, खीरे में वजन कम करने के गुण मौजूद होते हैं.