तेजपत्ते केवल मसाला नहीं, बल्कि इसमें औषधिय गुण भी है. वैसे तो तेपत्ते का इस्तेमाल लोग अक्सर मासले के तौर पर करते हैं ताकि उनके खाने का स्वाद बढ़ जाए लेकिन इसके लेने से आपसी शारीरिक समस्याएं कम हो जाती है. ऐसे में अगर आपको कोई भी समस्या है तो ऐसे में आप घर पर ही तेजपत्ते की मदद से कई सारी बीमारियों से छुटकारा पा सकती हैं. ऐसे में आ हम आपको बताएंगे की कैसे आप तेजपत्ते की मदद से उसका काढ़ा बनाकर अपनी सेहत को सुधारने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं. Also Read - इस घरेलू उपाय से दूर होगी हर तरह की नेगेटिव एनर्जी, देखें वीडियो

तेजपत्ता से बना काढ़ा आपकी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है, इस काढ़े को पीने से शरीर में कई तरह की चीजों को दूर किया जा सकता है क्योंकि इसमें मिनिरल्स होते हैं. तेजपत्ता में कॉपर, पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, सेलेनियम और आयरन से भरपूर होता है. इतना ही नहीं ये एंटीऑक्सीडेंट्स भी होता है जो जो कैंसर, ब्लड क्लॉटिंग और दिल से जुड़ी समस्याओं को भी दूर करता है. Also Read - Tips: रात को एक तेजपत्‍ता जलाएं, दूर होगी हर तरह की नेगेटिव एनर्जी...

तेजपत्ते का काढ़ा पीने के फायदे:
1. अगर आपको कमर दर्द होती है तो ऐसे में आप तेजपत्ते का काढ़ा कम सेकम दिन में दो बार रोज पिया करें. साथ ही तेजपत्ते का तेल ले लाएं और इसकी मालिश कमर पर करें, तेजपत्ते को सरसों के तेल में पका कर आप खुद भी तेल बना सकती हैं.

2. ठंड लगने पर या ठंड से होने वाले शरीर दर्द में आपको तेजपत्ते के काढ़े को पीना चाहिए, साथ ही इस तेल की मालिश भी करें.

3. चोट या मोच लगने पर आपको तेजपत्ते का काढ़ा पीना चाहिए और इसी के तेल को लगाना चाहिए, ताकि मोच आई सूजन और दर्द से राहत मिलेगा, तेज पत्ते को पीस कर मोच वाली जगह पर लगाएं.

4. कई बार अगर सोते वक्त नसों में खिंचाव हो जाता है या नसों में सूजन आ जाती है. तो ऐसे में तेजपत्तों के केढ़ा का सेवन करें, ये आपको आराम देगा.

ऐसे बनाएं काढ़ा:
इसे बनाने के लिए 10 ग्राम तेजपत्ता,10ग्र्म अजवायन और 5 ग्राम सौंफ को पीस लें औऱ एक लीट पानी में डाल कर तब कर उबालें जब तक ये आधा न रह जाए. जब ये मिश्रण ठंडा हो जाए तो इसका काढ़ा पी जाएं. तेजपत्ते का काढ़ा यदि परेशानी नहीं भी है तब भी पीएं, ताकि शरीर में होने वाली मिनिरल की कमी को भी दूर किया जा सके.