यूएनएड्स ने मंगलवार को जारी अपने हालिया रिपोर्ट में कहा है कि वैश्विक रूप से 2010 से 16 फीसदी की गिरावट आई है. यह दक्षिणी व पूवी अफ्रीका में स्थिर प्रगति की वजह से हुआ है. इसके अलावा 2018 में एचआईवी से 17 लाख नए लोग संक्रमित हुए हैं.Also Read - Farmers Protest: राकेश टिकैत ने भारत की जांच एजेंसियों पर उठाए सवाल, UN जाने के पक्ष में बोले

यूएनएड्स के वैश्विक एड्स अपडेट से पता चलता है कि दक्षिण अफ्रीका में काफी प्रगति हुई है. वहां 2010 से एड्स से जुड़ी मौत पर 40 फीसदी व एचआईवी के नए संक्रमणों को कम करने में 40 फीसदी की सफलता हासिल की गई है. Also Read - संयुक्त राष्ट्र में भारत ने पाक को लगाई लताड़, कहा-आतंकवाद को बढ़ावा देता है यह देश

Also Read - संयुक्त राष्ट्र पहुंचा 'नए आईटी नियमों' का मामला, भारत ने कहा- हितधारकों के साथ बातचीत के बाद बनाए नियम

रिपोर्ट यह भी खुलासा करती है कि एड्स से जुड़ी मौतों में कमी जारी है, क्योंकि उपचार में विस्तार हो रहा है और एचआईवी/क्षय की सेवाओं की डिलिवरी में सुधार हो रहा है.

साल 2010 से एड्स से जुड़ी मौतों में 33 फीसदी की गिरावट आई है.

हालांकि, पूर्वी व दक्षिणी अफ्रीका में अभी लंबा रास्ता तय करना है. यह क्षेत्र सबसे ज्यादा एचआईवी प्रभावित है. इसके अलावा पूर्वी यूरोप व मध्य एशिया (29 फीसदी), मध्य पूर्व व उत्तर अफ्रीका (10 फीसदी) व लैटिन अमेरिका (7 फीसदी) में एड्स के नए संक्रमणों से चिंताजनक स्थिति पैदा हो रही है.

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि प्रमुख आबादी व उनके यौन साझेदार अब वैश्विक तौर पर आधे से ज्यादा (54 फीसदी) नए एचआईवी संक्रमणों के लिए जिम्मेदार है.