Holi 2020 Gujiya: होली का नाम आते ही सबसे पहले दिमाग में उभरते हैं रंग और साथ में गर्मागर्म गुझिया. गुझिया ऐसा परंपरागत मीठा है, जिसे सालों से होली के अवसर पर बनाया जाता है. Also Read - नताशा ने हार्दिक पांड्या संग ससुराल में जमकर खेली होली,भज्‍जी-धवन भी होली के रंग में आए नजर

गुझिया के बिना तो होली की कल्‍पना ही नहीं की जा सकती. हो भी क्‍यों ना, रंगों की मस्‍ती में मिठास घोल देती है गुझिया. बाजार में मिलने वाली गुझिया तो आप सभी ने खाई होगी, पर मां के हाथों का स्‍वाद नहीं मिल पाता तो इस बार गुझिया की ये रेसिपी ट्राई करें. Also Read - VIDEO: मुंबई में होलिका की जगह जलाया गया कोरोनासुर का पुतला, लोग बोले- 'दूर भागेगा Virus'

गुझिया में भरावन-

  Also Read - Happy Holi 2020 Wishes In Hindi: होली पर हिंदी में भेजें ये शुभकामना संदेश, दें रंगपर्व की बधाई

मावा/खोया – 400 ग्राम (घर पर भी तैयार कर सकते हैं)
शक्कर – 400 ग्राम (पिसी हुई)
सूजी – 100 ग्राम
सूखे नारियल का बुरादा – 100 ग्राम
काजू – 100 ग्राम (महीन कतरे हुए)
किशमिश – 50 ग्राम (डंठल रहित)
घी – 02 बड़े चम्मच
छोटी इलाइची – 08 (छील कर कूटी हुई)

 

गुझिया का कवर-

 

मैदा – 500 ग्राम
दूध – 50 ग्राम
घी – 125 ग्राम (आटा में डालने के लिये)
घी – गुझिया तलने के लिये

गुझिया रेसिपी – Gujiya Recipe In Hindi

 

पहले भरावन तैयार करना है. भारी तले की कढ़ाई लें और उसमें मावा (खोया) को हल्का भूरा होने तक भून लें और उसे एक एक अलग बर्तन में निकाल लें. इसके बाद कढ़ाई में घी डालें और सूजी डाल कर उसे भी हल्का भूरा होने तक भून लें. भुन जाने पर सूजी को भी एक अलग बर्तन में निकाल लें. अब मावा (खोया), सूजी, शक्कर और मेवों को अच्छी तरह से मिला लें. भरावन तैयार है.

गुझिया का कवर बनाना है. घी को पिघला लें. उसे छने हुए मैदा में डाल कर अच्छी तरह से मिला लें. इसके बाद दूध को आटे में मिला दें. पानी डालकर कड़ा आटा गूंद लें. गुंदे आटे को बर्तन में रख दें और उसे गीले कपड़े से ढक कर आधे घंटे के लिए रख दें. आधे घंटे के बाद आटे को खोलें और उसे फिर हल्के हाथों से गूंदे. आटे की छोटी-छोटी लोईयां बना लें. लोइयां सूख कर कड़ी न हो जाएं, इसलिए इन्हें गीले कपड़े से ढंक दें. एक-एक लोई लें और उसे पूरी की शक्ल में बेल लें. एक-एक पूरी को उठाएं और उसके बीच में दो बड़े चम्मच भरावन सामग्री रखकर पूरी को बीच से पलट दें और किनारे के सिरों को मोड़ कर बंद कर दें. आप चाहें तो इसके लिए गुझियों के सांचे का भी प्रयोग कर सकते हैं.

सारी गुझिया भरने के बाद एक मोटे तले की कढ़ाई में घी गरम करें. घी गरम होने पर आंच को मीडियम कर दें और उसमें जितनी गुझिया आराम से तल सकें और हल्की भूरी होने तक उलट-पलट कर तल लें.

गुझिया तैयार हैं. इन्‍हें गर्मागर्म खाने में तो मजा है, आप चाहें तो इसे एयर टाइट डिब्‍बे में स्‍टोर करके भी रख सकते हैं. यह कम से कम दो से तीन सप्‍ताह तक चल सकती हैं.