नई दिल्ली: नवजात शिशु के पेट में गैस बनना काफी आम बात है. बच्चों के पेट में हरवा जमा हो जाने के कारण गैस बनती है. पेट में हवा जमा होने से नवजात बच्चे को पेट भरा-भरा सा महसूस होता है. पेट के अंदर हवा होने से शिशु को बहुत असहजता महसूस होती है. ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि नवजात शिशु के पेट में गैस क्यों बनती हैं और कैसे आम इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं. Also Read - Single Parenting Tips: बेबी और ऑफिस वर्क को ऐसे करें मैनेज, आप भी बन जाएंगे परफेक्ट फादर

गैस बनने के कारण- Also Read - Vastu Tips: अपने नन्हे बच्चे के कमरे को डिजाइन करते समय ध्यान रखें ये वास्तु टिप्स

जल्दी-जल्दी दूध पीना- बच्चे कई बार काफी जल्दी-जल्दी दूध पीने लगते हैं. इससे उनके पेट में हवा चली जाती है. जिससे गैस बनती है. Also Read - Parenting Tips: कोरोना वायरस से संक्रमित महिलाएं शिशु को ब्रेस्ट फीडिंग कराते समय जरूर करें ये काम

डकार ना दिलाना- बच्चों को दूध पिलाते समय बीच-बीच में डकार जरूर दिलानी चाहिए. इससे बच्चे के पेट में गैस नहीं बनती.

मां के स्तनपान से भी- मां के मिर्च-मसाले वाली चीजें खाने से भी शिशु को गैस हो जाती है. जरूरी नहीं कि सभी महिलाओं को एक जैसी चीजों से ही गैस हो. ऐसे में इस बात पर ध्यान देना जरूरी है कि आप क्या खा रही हैं और किससे आपको गैस हो रही है.

गैस से छुटकारा पाने के उपाय

– हींग पेट की गैस से रिलीफ दिलाने में काफी मदद करती है. अगर शिशु के पेट में गैस बन रही हो तो हींग का गाढ़ा पेस्‍ट तैयार करें. इस पेस्‍ट को उसकी नाभि में और आस पास के एरिया में लगाएं. इससे आपके बच्‍चे के पेट से गैस पास होने में आराम मिलेगा.

– अगर आपको शिशु के पेट में गैस बनने का कारण समझ में नहीं आ रहा है तो उसकी दूध पीने वाली बोतल पर ध्‍यान दें. अगर बोतल का निप्‍पल का छेद ज्‍यादा बड़ा हो गया है तो उसे तुरंत ही बदल दें.

– बच्‍चे को गैस की परेशानी से राहत दिलाने के लिये उसे पेट के बल भी लिटाया जा सकता है. ऐसा केवल 1 या 2 मिनट तक ही करें.

– शिशुओं में गैस बनना कम करने के लिए पेट की मालिश एक बेहतरीन तरीका होता है. बच्चे को पीठ के बल लिटाएं और पेट पर धीरे-धीरे, घड़ी की दिशा में सहलाएं और फिर हाथ को उसके पेट के नीचे की गोलाई तक ले जाएं .