लंदन: ब्रिटेन के स्कूलीबच्चों को समलैंगिक और ट्रांसजेंडर संबंधों के बारे में पढ़ाया जाएगा. इस संबंध में सरकार के नये अनिवार्य दिशा-निर्देश अगले सप्ताह जारी किये जाएंगे. ‘द संडे टाइम्स’ की खबर के अनुसार ये नये पाठ्यक्रम पूरे ब्रिटेन के स्कूलों में 2020 में शुरू किये जाएंगे. उससे पहले ब्रिटेन का शिक्षा विभाग छह महीने तक मशविरा करेगा.

‘Homosexuality’ कोई बीमारी नहीं, लैंगिक-रुझान बदलने का इलाज हो बैन, बोले इस देश के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री

नये वैधानिक दिशानिर्देश में यह भी पहली बार शामिल होगा कि अभिभावकों को यह अधिकार होगा कि वे अपने बच्चे को संबंध एवं यौन शिक्षा कक्षा से बाहर रखने का चयन कर सकते हैं. इस संबंध में अभियान चलाने वालों का तर्क है कि यह पाठ बच्चों को आनलाइन होने वाले बाल यौन उत्पीड़न से संरक्षण के लिए जरूरी है. इसके साथ ही उन्हें समाज में विभिन्न तरह के संबंधों के बारे में पढ़ाया जाना चाहिए. यद्यपि सभी अभिभावक इस अवधारणा से सहमत नहीं हैं.

कहीं आप भी तो नहीं हैं DemiSexual? जानें क्‍या है ये टर्म, कैसे होती है ऐसे लोगों की पहचान…

सोमवार को एक अर्जी पर 100,000 से अधिक लोगों ने हस्ताक्षर करके नये पाठ्यक्रम पर आपत्ति जतायी. इस पर ब्रिटेन की संसद में चर्चा की जाएगी.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.