कुछ लोग जरा सा मौसम बदले ही बीमार हो जाते हैं, या फिर उन्हें और कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है. जैसे की बार-बार यूटीआई, मुंह में छाले होना और स्किन रैशेज की समस्या होना आम हो जाता है. ऐसे में आप जान जाएं की आपकी इम्यूनिटी अच्छी नहीं है. यदि आपकी इम्यूनिटी कमजोर है तो आपको वायरस का खतरा बढ़ जाता है. इम्यूनिटी हमारे शरीर की टॉक्सिन्स से लड़ने की क्षमता रखती है. ऐसे में आपको जानकारी होनी चाहिए की आप का इम्यून सिस्टम कैसा है. Also Read - जिन मरीजों में नहीं दिखता है कोरोना का लक्षण, उनकी इम्यून सिस्टम हो सकती है कमजोर, जानिए क्या अध्ययन का दावा 

इम्‍यून सिस्‍टम कमजोर (Weak Immune System) होने की वजह से वह बार-बार बीमार पड़ते हैं. इम्यूनिटी कमजोर होने के पीछे आपको लंबे समय से हो रही बीमारियां भी हो सकती हैं. साथ ही लाइस्टाइल और खानपान तो एक अहम फैक्टर तो है ही. अगर आप जानना चाहते हैं कि आपका इम्यून सिस्टम मजबूत है या कमजोर तो यहां जानें कमजोर इम्यूनिटी के संकेत.

1. थकाम महसूस होना
अगर हमेशा आपको थकान महसूस होती है जैसे की आपकी नींद पूरी ना हो तो तनान,एनीमिया या क्रोनिक फेटीग सिंड्रोम है. अगर आपको इसकी वजह पता नहीं चल रही है तो ऐसे में पूरी नींद लेने के बाद भी आप थकान महसूस करते हैं तो ऐसे में आपका इम्यून सिस्टम कमजोर है.

2. संक्रमण होना या एलर्जी
अगर आपको लगता है का आप बार-बार बीमार हो रहे हैं या फिर आपको जुकमा या खांसी हो री है तो ऐसे में आपको समझ जाना चाहिए की आपका इम्यून सिस्टम अच्छा नहीं है.

3. विटामिन डी की कमी
अगर आपके शरीर में विटामि डी की कमा है तो ऐसे में आपको थकान हमेशा महसूस होगी. इसके अलावा आलया या कुछ ऐसे घाव जो जल्द नहीं भर रहे हैं. इसके अलावा आपको नींद ना आना.डिप्रेशन औऱ डार्ख सर्कल भी कमजोर प्रतिरोधक क्षमता की निशानी है.

4. पाचन खराब रहना
अक्सर पाचन खराब रहना, कब्ज, गैस, पेट दर्द और पेट फूलने जैसी समस्याएं भी कमजोर इम्यून सिस्टम का संकेत हो सकती हैं. अक्सर पाचन संबंधित समस्याएं होने पर आपको इम्यूनिटी बढ़ाने वाली चीजों का सेवन करना चाहिए.

5. घाव भरने में समय लगना
चोट हर किसी को लगती है, लेकिन कई लोगों के घाव जल्दी भर जाते हैं तो कुछ लोगों के घाव भरने में समय लगता है. अगर आपके घाव भरने में काफी समय लग जाता है तो आपका इम्यून सिस्टम कमजोर हो सकता है. अगर आपके शरीर में कहीं पर घाव हो जाए और वो एकदम से न भरें तो ये लो इम्यूनिटी का संकेत है.