आप कैसे सोते हैं इसका भी बहुत असर आपकी सेहत पर पड़ता है. कई लोग करवट के बल सोते हैं तो कुछ पीठ के बल तो वहीं कुछ लोग पेट के बल सोते हैं. बहुत कम लोगों को ही मालूम रहता है कि पूरी और अच्छी नींद के साथ सोते समय सही पॉशचर भी बहुत जरुरी है ताकि जब आप सुबह उठें तो आपकी बॉडी में किसी तरह की कोई दिक्कत ना हो.

कई बार ऐसा होता है कि हम किसी भी स्टाइल में सो जाते हैं और जब सुबह उठते हैं तो हमारे शरीर के कुछ हिस्सों में दर्द होता है, ऐसा इसलिए क्योंकि हमने सोते वक्त अपने बॉडी का पॉशचर सही नहीं रखा था. सोते समय ये ध्यान रखना बहुत ज़रूरी है कि आप पीठ के बल हो रहे हैं या फिर किसी और पॉशचर में. पीठ के बल सोने से ना सिर्फ अच्छी नींद आती है बल्कि शरीर के कई दर्द भी गायब हो जाते हैं. ऐसे में अगर आप पीठ के बल सोने वाले में से हैं तो जानें इसके आपको कितने सारे फायदे हो सकते हैं.

1.सिर और गर्दन दर्द से राहत
पीठ के बल सोने या फिर लेटने से आपका शरीर एकदम सीधा रहता है जिसकी वजह से गर्दन की मांसपेशियों पर प्रेशर नहीं होता. पीठ के बल सोने से गर्दन में खिंचाव की शिकायत भी दूर रहती है. इसके साथ ही ऐसे सोने से आपके सिर का भारीपन भी दूर रहता है.

2. झुकने की परेशानी
पीठ के बल सोने से किसी भी काम के लिए अगर आप झुकने और अधिक देर खड़ा होने की भी शिकायत को भी दूर रहती है. अगर आप पीठ के बल सोते हैं तो इससे आपकी रीढ़ की हड्डियां सही रहती है. कमल और कूल्हे के दर्द से राहत भी मिलती है पीठ के बल योने से.

3. पेट की स्थिति ठीक रहती है
कहा जाता है कि पीठ के बल सोने से आप पेट की कई परेशानियों से दूर हो सकते हैं. पीठ के बल सोने से पंचन तंत्र भी सही रहता है, कहा जाता है कि पीठ के बल सोने से पेट में अम्लीय रिसाव नहीं होता है.