नई दिल्ली: अगर आप अपने बचपनन में कभी किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हुए थे, जिससे आपको अस्पताल में भर्ती होना पड़ा हो तो इस बात की संभावना है कि इसका असर जवानी में सीखने की क्षमता पर पड़े.Also Read - शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा को गरीबी से थी नफरत, पापा करते थे कंडक्टरी...मां करती थीं फैक्ट्री में काम

Also Read - बचपन में बहुत तंग करती थीं Priyanka Chopra, मम्मी-पापा ने भेज दिया हॉस्टल, एक बार तो...

‘द पेडियाट्रिक इंफेक्शस डिजीज जर्नल’ में प्रकाशित एक रिसर्च के मुताबिक अगर कोई अपने बचपन में किसी गंभीर संक्रमण से प्रभावित रहा हो तो किशोरावस्था में अकादमिक प्रदर्शन पर असर पड़ सकता है. इसमें कहा गया है कि संक्रमण की वजह से ज्यादा बार अस्पताल में भर्ती होने से नौवीं कक्षा को पूरा करने की संभावना कम होती है, साथ ही साथ इम्तिहान में कम अंक आने की संभावना रहती है. Also Read - चेहरे का सांवलापन मिटाने के लिए पाउडर लगाती थीं प्रियंका चोपड़ा, US में हुई थीं बुली का शिकार

पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में थायरॉइड का खतरा 10 गुना ज्यादा, ऐसे करें बचाव

रिपोर्ट लिखने में सहयोगी डेनमार्क के आरहुस विश्वविद्यालय अस्पताल के कोहलर-फोसबर्ग ने कहा, “हमारे निष्कर्ष खास तौर से बचपन के दौरान गंभीर संक्रमण व किशोरावस्था के ज्ञान संबंधी उपलब्धि के जुड़े होने के संदर्भ में हमारी समझ को विस्तार देते हैं.” इस शोध के लिए शोधकर्ताओं ने डेनमार्क में 1987 से 1997 के बीच जन्मे 598,553 बच्चों के डाटा को शामिल किया है.

(इनपुट: एजेंसी)