Covid-19: देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे है. कोरोना के दैनिक मामलों ने तीन लाख के आकड़ो को पार कर लिया है. आज देश भर में कोरोना के 3.45 लाख से ज्यादा मामले सामने आए और 2600 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई. ऐसे में माता पिता होने के नाते हमें अपने बच्चों को सुरक्षित रखने की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है. हमारा देश कोरोना की दूसरी लहर को झेल रहा है तब हमें अपने शारीरिक स्वास्थ्य के साथ मानसिक स्वास्थ्य का भी ध्यान रखना बेहद जरूरी है. कोरोना की दूसरी लहर ने बच्चों पर बहुत बुरा असर डाला है. ऐसे में माता पिता की यह जिम्मेदारी बहुत बढ़ जाती है कि हम अपने बच्चों के शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य का भी पूरा-पूरा ध्यान रखें.Also Read - Mango Peel Benefits: आम के छिलके आपकी त्वचा के लिए हैं वरदान, भूलकर भी ना फेंके | Watch

हम आपकों कुछ आसान टिप्स दे रहें है जिससे आप अपने बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य का अच्छे से ध्यान रख सकते है- Also Read - पिंपल्‍स और मुंहासों से बचना है तो भूलकर भी न खाएं ये चीजें | Watch Video

बच्चों को कोरोना वायरस के बारे में समझाएं
अपने बच्चों को कोरोना से सुरक्षित रखने के लिए उन्हें कोविड-19 (Covid-19) बीमारी के बारे में बताए. उन्हें बीमारी से सुरक्षित रहने के उपाय के बारे में भी अवगत कराए. आप अपने बच्चों के साथ क्वालिटी टाइम बिताएं जिससे उन्हें अकेलापन ना महसूस हो. इस बात का भी विशेष ध्यान रखें की उनके जो भी सवाल हो आप उसका ठीक से जवाब दें ताकि बच्चें भी इस बीमारी से खुद को सुरक्षित रख सकें और सतर्क रहें. Also Read - Hair Care Tips: चिपचिपे बालों से हैं परेशान? आज ही अपनाएं यह आसान उपचार - Watch Video

दोस्तों के साथ रखें संपर्क में
आप इस बात का विशेष ध्यान रखें की बच्चों को अपने दोस्तें के साथ संपर्क में रखें. कोरोना में सोशल डिस्टेंसिंग बेहद जरूरी है पर आप बच्चों को वीडियो कालिंग या फोन को जरीए उनके दोस्तों के साथ कनेक्टेड रख सकतें है. ऐसा करने से उन्हें अकेलापन नहीं महसूस होगा.

अपने बच्चे की चिंता को दूर करें
इस समय बच्चे का चिंतित होना सामान्य सी बात है पर आप अपने बच्चे में भावनात्मक संकेतों के देखें और उसी के बारे में उनसे बात करें. इस बात का विशेष ध्यान रखें कि बच्चे अपनी भावना व्यक्त करते रहें. COVID-19 से रिलेटेड उनके सवालों से बचें नहीं और उनके सभी सवालों का जवाब दें. इससे उनके मन की चिंता दूर होगी. उन्हें कोरोना के बारे में समझाएं कि अगर हम उचित देखभाल करेंगे तो चीजें जल्द ही बेहतर हो जाएंगी. ऐसा करने से बच्चों में विश्वास पैदा होता है और वह मानसिक रूप से स्वास्थ्य फिल करेंगे.

उन्हें सही जानकारी दें
कोरोनो वायरस महामारी की सभी रिपोर्ट बच्चों बताना सही नहीं है क्योकिं इससे वह घबरा जाएगें. हालांकि, उन्हें दुनिया में क्या हो रहा है, इसकी सही जानकारी देना बहुत जरूरी है. उन्हें इस तरह से जानकारी दें कि वे समझ सकें बीमारी के बारे में पर वह इससे घबराएं नहीं.