नई द‍िल्‍ली: पतंगबाजी ऐसा शौक है जिसके मजे लूटने के लिए बड़े भी बच्चे बन जाते हैं. भारत लगभग हर हिस्से में पतंगबाजी की जाती है. हाथ में मांझा लिए बच्चों घंटों तक आसमान में अपनी पतंग से मजे लूटते हैं. हालांकि पतंग उड़ाने के लिए आपको किसी खास त्यौहार की जरुरत नहीं है लेकिन आजादी के दिन यानी 15 अगस्त को लोग खासतौर से पतंग उड़ाना पसंद करते हैं.

Happy Independence Day 2018: Patriotic Messages और 15 August Images, बनाएं वॉलपेपर, स्‍टेटस या दोस्‍तों को भेजकर करें विश…

पतंग उड़ाने के लिए आपको किसी ट्रेनिंग की भी जरुरत नहीं है. बस पतंग और मांझा लीजिए और हो जाइए शुरू…15 अगस्त के अलावा भारत में लोग मकर संक्रांति के दिन भी पतंग उड़ाना पसंद करते हैं. क्या आप जानते है आखिर पतंगबाजी के बारे में हमारे इतिहास में क्या लिखा है? पतंगबाजी के बारे में लोग कई तरह की बातें करते हैं लेकिन उनमें से अधिकतर ऐसी कहावतें हैं जो बरसों से चली आ रही हैं.

PHOTOS: 71 साल पहले ऐसे मना था देश का पहला स्‍वतंत्रता दिवस, देखें 15 अगस्‍त 1947 की दुर्लभ तस्‍वीरें…

चलिए आज हम आपको बताते हैं इस खास शौक के बारे में कुछ रोचक बातें-

भारत में पतंग उड़ाने का शौक हजारों वर्ष पुराना हो गया है. कुछ लोगों के अनुसार पवित्र लेखों की खोज में लगे चीन के बौद्ध तीर्थयात्रियों के द्वारा पतंगबाजी का शौक भारत पहुंचा. भारत के कोने-कोने से युवाओं के साथ वृद्ध लोग भी यहां आते हैं और खूब पतंग उड़ाते हैं.

Getty Images

Getty Images

लोगों के उत्‍साह को देखते हुए बाजार में कई तरह की पतंगें बिकती हैं. इनमें मोदी पतंग सबसे फेवरेट है. इसके अलावा कई थीम्‍स और आकार की पतंगे देखी जाती हैं.

Independence Day 2018: 2014 से 2017 तक, साल दर साल मोदी की पगड़ी रही चर्चा में, क्‍या पहनेंगे इस बार?

– उत्तर भारत के लोग रक्षाबंधन और स्वतंत्रता दिवस वाले दिन खूब पतंग उड़ाते हैं. इस दिन लोग नीले आसमान में अपनी पतंगें उड़ाकर खुशी का इजहार करते हैं.

– दिल्ली, हरियाणा, उत्तरप्रदेश तथा मध्यप्रदेश के लोग इस दिन पतंगबाजी का जमकर लुत्फ उठाते हैं. पतंग उड़ाते और काटते समय में छोटे-बड़े के सारे भेद भूल जाते हैं.  इस दिन चारों तरफ वो काटा, कट गई, लूटो, पकड़ो और आई पो का शोर मचता है.

Happy Independence Day 2018: 72वें स्‍वतंत्रता दिवस पर हिंदी में भेजें ये Wishes, Quotes, Whatsapp message, SMS और Greetings

– अहमदाबाद की पतंगबाजी पूरी दुनिया प्रसिद्ध है. हर वर्ष 14 जनवरी को मकर संक्रांति (उत्तरायण) के अवसर पर यहां अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव का आयोजन होता है,  जिसमें अहमदाबाद नीला आसमान इंद्रधनुषी रंगों से भर जाता है.

Kite Strings

– मुगल बादशाहों के शासन काल में भी तो पतंग का जिक्र मिलता है. खुद बादशाह और शहजादे भी इस खेल को बड़ी ही रुचि से खेला करते थे. उस समय भी तो पतंगों के  पेंच लड़ाने की प्रतियोगिताएं भी होती थीं.

Happy Independence Day 2018: यहां देखें और SAVE करें ऐसे Facebook status, Message, Wishes जो नहीं होंगे किसी और के पास…

– हैदराबाद और लाहौर में पतंगबाजी की खेल बड़े उत्साह के साथ खेला जाता था.

Independence Day 2018: स्वतंत्रता दिवस पर ये ड्रेस पहनकर डूब जाएंगे देशभक्ति के रंग में

– ग्रीक इतिहासकारों की मानें तो पतंगबाजी लगभग 2500 वर्ष पुरानी है, वहीं अधिकतर लोगों का मानना है कि पतंगबाजी के खेल की शुरूआत चीन में हुई. चीन में पतंगबाजी का इतिहास 2 हजार साल से भी ज्यादा पुराना माना जाता है.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.