भारत अपना 74वां स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है, कोरोना की वजह से भले ही इस साल वो रौनक न हो लेकिन लाल किले की प्राचीर से पीएम के संबोधन का हर किसी को इंतजार है. पीएम मोदी लगातार 7वीं बार राष्ट्र को लाल किले से संबोधित करेंगे. हर साल स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लुक और उनका साफा चर्चा का विषय रहता है. Also Read - पीएम मोदी मंगलवार को IIT गुवाहाटी के दीक्षांत समारोह को करेंगे संबोधित, इंजीनियरिंग के छात्रों को मिलेगी डिग्री

पीएम का कभी केसरिया साफा तो कभी सफेद साफा हर बार आकर्षण का केंद्र बन जाता है. पीएम हर साल अपने साफे और पगड़ी के साथ कुछ ना करते हैं, जिस वजह से साल 2014 से लेकर अब तक हर किसी की नजर इसी पर होती है, तो चलिए जानते हैं अब तक कैसा रहा है पीएम का लुक. Also Read - 'पीएम मोदी कृषि बिल को ऐतिहासिक बता रहे हैं, वाकई ये है तो किसान ख़ुश क्यों नहीं'

साल 2014
2014 में पहली बार बतौर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना पहला भाषण लाल किले से दिया था. इस दौरान उन्होंने सफेद रंग का कुर्ता और उसके साथ राजस्थान के बांधानी रंग का केसरिया साफा पहना था. उस साफे की खास बात ये थी की उसमें तिरंगे का रंग शामिल था. Also Read - राज्यसभा में दोनों कृषि विधेयक पास, पीएम मोदी बोले- अन्नदाताओं को आजादी मिली, जारी रहेगी सरकारी खरीद

साल 2015
पीएम मोदी हर साल स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अलग-अलग अंदाज में नजर आए हैं, साल 2015 में पीएम ने अपने साफे को केसरिया रंग में रंग था, जिसमें हरी और लाल रंग की धारियां मौजूद थी.

साल 2016
साल 2016 में लाल किले पर जब पीएम आए थे तो उन्होंने कुर्ते के साथ जोधपुर का मशहूर जगशाही साफा अपने सिर पर बांधा था. ये साफा सफेद,लाल,गुलाबी,पीले और रंग से बना हुआ था.


साल 2018
साल 2018 में पीएम ने अपने साफे को बेहद अलग तरीके से सजवाया था, ये साफा बेहद लंबा था जो पीएम को खूब जंच रहा था. ये साफा इतना लंबा था कि उनके घुटनों तक से नीचे जा रहा था. इस साफे की लंबाई पर उन्होंने कहा थी कि, ये लंबाई बताती है की देश में गरीबों की शान बढ़ रही है.

साल 2019
पिछले साल 2019 में पीएम ने अपने लुक में सफेद कुर्ता और पायजामे के साथ रंग बिरंगा साफा शामिल किया था. जिसमें हरा,पीला,लाल रंग शामिल था. ये साफा राजस्थानी लुक का था, ठीक वैसा ही जैसा साल 2016 का था.