भारत जल्द ही अपना 74वां स्वतंत्रता दिवस मनाने वाला है, कोरोना के साए में इस साल का जश्न भले ही फीका पड़ गया हो लेकिन बाजारों में रौनक लग रही है. बाजारों में इस बार तिरंगा मास्क का प्रचलन देखने को मिल रहा है औऱ लोग इस खूब पसंद भी कर रहे हैं. ‘तिरंगा मास्क’ आपको सड़को से लेकर दुकानों तक में देखने को मिल जाएगा. Also Read - सोनिया का मोदी सरकार पर हमला, कहा- सरकार संवैधानिक मूल्यों और प्रजातांत्रिक व्यवस्था के विपरीत खड़ी है

  Also Read - स्वतंत्रता दिवस पर रूस, भूटान सहित कई देशों ने दी शुभकामनाएं, पीएम मोदी और विदेश मंत्री ने किया शुक्रिया अदा

स्वतंत्रता दिवस पर झंडों के अलावा सबसे अधिक बैज, हाथ में पहने जाने वाले बैंड, पगड़ी आदि की बिक्री होती है. लेकिन कोरोना के चलते इस बार इनकी डिमांड कम है. इनकी जगह अलग-अलग तिरंगा स्टाइल के मास्क युवाओं को खूब लुभा रहे हैं. Also Read - स्‍वतंत्रता दिवस पर डेविड वार्नर ने फेहराया तिरंगा, भारत को बताया दूसरा घर

मास्क में अलग अलग तरह से सजाया गया है ताकि ये देखने में अच्छा लगे, किसी में इंडिया लिखा है तो किसी में हैप्पी इंडिपेंडेंस डे लिखा है। बाजार में इसकी 20 रुपए तक रखी गई है ताकि हर किसी तक ये आसानी से पहुंच सके.

भले ही ये मास्क इस वक्त सड़को पर खुले आम बिक रहे हैं लेकिन हर जिला अधिकारी ने इसे पहनने और बेचने पर रोक लगा दी है औऱ इसका कारण है तिरंगे का अपमान. दरअसल लोग मास्क को कई दिनों तक इस्तेमाल करते नहीं है और उसे फेंक देते हैं ऐसे में तिरंगे को फेंकना उसका अपमान करना है, इस वजह से इस मास्क पर लोग लगाई जा रही हैं.